Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

बाइकर की मौत में 3 साल बाद आया हिला देने वाला ट्विस्ट, पत्नी गिरफ्तार, पढ़िए पूरी क्राइम स्टोरी

जैसलमेर राजस्थान के जैसलमेर में एक चौंका देने वाली मर्डर मिस्ट्री (Jaisalmer murder mystery)सामने आई है। यहां दरअसल तीन साल पहले ज‍िस इंटरने...

जैसलमेर राजस्थान के जैसलमेर में एक चौंका देने वाली मर्डर मिस्ट्री (Jaisalmer murder mystery)सामने आई है। यहां दरअसल तीन साल पहले ज‍िस इंटरनेशनल बाइक राइडर (International bike rider ) की मौत को सामान्य मानकर केस खत्म होने की तैयारी हो गई थी, उसमें अब एक नया मोड़ आ गया है। अब राजस्थान पुल‍िस (Rajasthan police ) इस मामले को साजिशन हत्या के तौर पर इन्वेस्टिगेट (Police investigation) कर रही है।

जैसलमेर में इंटरनेशनल बाइक राइडर (International bike rider asbak mon) असबाक मोन की मौत मामले में राजस्थान पुलिस (Rajasthan police )ने बेंगलुरू (Bengaluru )से दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। फिलहाल मामले की जांच जारी है।


इंटरनेशनल बाइक राइडर की इस जिस मौत को पुलिस मान रही थी सामान्य, कैसे वो बन गई मर्डर मिस्ट्री, जाने पूरा मामला

जैसलमेर

राजस्थान के जैसलमेर में एक चौंका देने वाली मर्डर मिस्ट्री (Jaisalmer murder mystery)सामने आई है। यहां दरअसल तीन साल पहले ज‍िस इंटरनेशनल बाइक राइडर (International bike rider ) की मौत को सामान्य मानकर केस खत्म होने की तैयारी हो गई थी, उसमें अब एक नया मोड़ आ गया है। अब राजस्थान पुल‍िस (Rajasthan police ) इस मामले को साजिशन हत्या के तौर पर इन्वेस्टिगेट (Police investigation) कर रही है।



​यह है घटना
​यह है घटना

दरअसल तीन साल पहले इंडियन बाजा मोटरस्पोर्ट्स डकार चैलेंज रैली के दौरान अंतरराष्ट्रीय बाइकर असबक मोन (34) जैसलमेर आए थे। यहां उनकी मौत हो गई थी। पता चला है कि मोन 15 अगस्त 2018 को शाहगढ़ बल्ज में राइडिंग ट्रैक को देखने के बाद असबाक और उसके दोस्त 16 अगस्त 2018 को राइडिंग के लिए निकले थे। जानकारी के अनुसार, ये सभी बिछड़ गए, रास्ता भटक गए थे। लेकिन मोन के अलावा सभी लौट आये। इसके बाद करीब 2 दिन बाद बाद मोन का शव बरामद हुआ। उसकी बाइक स्टैंड पर खड़ी थी और उस पर हेलमेट रखा था। जिस जगह शव मिला वहां मोबाइल नेटवर्क नहीं मिलता।



​पुलिस ने मौत को माना था सामान्य
​पुलिस ने मौत को माना था सामान्य

जैसलमेर एसपी अजय सिंह के अनुसार तीन साल पहले हुई इस मौत मामले में पुलिस ने इस मामले की फाइनल रिपोर्ट तैयार कर दी थी। इसमें मृतक की पत्नी और दोस्तों के बयान से पता चला था कि बाइक राइडिंग अभ्यास के दौरान मोन जैसलमेर के रेगिस्तान में रास्ता भटक गया । डिहाइड्रेशन या प्यास के कारण उसकी मृत्यु हो गई। लिहाजा पुलिस ने भी इस प्राकृतिक कारणों से हुई मौत ही माना था



​पुलिस ने बेंगलुरू से किया दो लोगों को गिरफ्तार
​पुलिस ने बेंगलुरू से किया दो लोगों को गिरफ्तार

एसपी ने बताया कि इंटरनेशनल बाइकर असबाक मोन केरला कन्नूर का निवासी है। वहीं कुछ सालों से बेंगलुरू के आरटी नगर में रह रहा था। इस मामले में मृतक के भाई और उसकी मां ने हत्या की साजिश का आरोप लगाया। इसके बाद अनुसंधान किया गया, तो हत्या की ओर शक की सुई मुड़ गई। इसी आधार पर आगे की इन्वेस्टिगेशन चालू है। पुलिस ने मोन के दो दोस्तों को बाइकर की पत्नी के साथ मिलकर उसकी हत्या की साजिश रचने के आरोप में सोमवार को बेंगलुरु से गिरफ्तार कर लिया है।



​पत्नी से विवाद आया सामने
​पत्नी से विवाद आया सामने

एसपी अजय सिंह के अनुसार मोन अपनी पत्नी सुमेरा परवेज और पांच दोस्तों संजय, विश्वास, नीरज, साबिक और संतोष के साथ जैसलमेर में रैली में हिस्सा लेने आए था। पुलिस ने कहना है कि मोन की अपनी पत्नी के साथ कई मुद्दों पर विवाद की बात भी सामने आई है। बेंगलुरु शिफ्ट होने से पहले वह दुबई में रहता था। एसपी सिंह ने बताया कि हत्या वाले दिन मोन का दोस्त संजय सबसे पहले मौके पर पहुंचा और वो वहां से मोन का मोबाइल और अन्य सामान ले गया।





from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3EYchO9
https://ift.tt/3zQgrnx

No comments