Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

अखबार बेच रहे 6वीं के बच्चे का कॉन्फिडेंस तो देखिए, मंत्री भी तारीफ करने से रोक नहीं पाए

हैदराबाद/जगतियाल 'अगर मैं पढ़ाई करने के साथ ही काम भी करता हूं, तो इसमें क्या बुराई है? शरीर स्वस्थ रहेगा तो पढ़ाई पर फोकस कर पाऊंगा।...

हैदराबाद/जगतियाल 'अगर मैं पढ़ाई करने के साथ ही काम भी करता हूं, तो इसमें क्या बुराई है? शरीर स्वस्थ रहेगा तो पढ़ाई पर फोकस कर पाऊंगा।...' तेलंगाना के जगतियाल में अखबार बेच रहे 12 साल के एक बच्चे का वीडियो वायरल हो रहा है। यह सवाल उसी बच्चे का है। इस वीडियो में बच्चे के जवाब की चर्चा हो रही है। यहां तक कि प्रदेश के मंत्री के. टी. रमाराव ने 43 सेकेंड का वीडियो ट्वीट करते हुए बच्चे के आत्मविश्नास की तारीफ की है। वीडियो में एक शख्स ने साइकल पर अखबार लेकर दुकानों में डाल रहे एक बच्चे से पढ़ाई की बजाय यह काम करने की वजह पूछी। गवर्नमेंट स्कूल के 6वीं क्लास में पढ़ने वाले जयप्रकाश ने मासूमियत के साथ जवाब देते हुए कहा कि अगर वह अभी यह करेंगे तो भविष्य के लिए उपयोगी साबित होगा। वीडियो वायरल होने के बाद हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया ने बच्चे से बात की। 12 साल के प्रकाश ने कहा कि वह सुबह अखबार बेचने का काम किसी आर्थिक मजबूरी में नहीं, बल्कि खुद की इच्छा से कर रहा है। बच्चे ने बताया, 'मैं नवंबर 2020 से ऐसा कर रहा हूं। जल्दी उठने के बाद साइकल चलाकर न्यूजपेपर बांटने से शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बेहतर हुई है। मेरा शरीर स्वस्थ रहेगा और मैं पढ़ाई पर फोकस कर पाऊंगा।' तेलंगाना के IT मंत्री और सीनियर नेता के टी रमाराव ने कहा, 'जगतियाल टाउन का यह वीडियो है। यह युवा जय प्रकाश है, जो कि सरकारी स्कूल में पढ़ता है। इसका आत्मविश्वास, विचारों की स्पष्टता और अभिव्यक्ति शानदार है। इसका कहना है कि स्कूल में पढ़ाई के साथ ही काम करने में क्या बुराई है। यह भविष्य में बहुत अच्छा साबित होगा।' बड़े भाई से मिली प्रेरणा प्रकाश ने इस आदत के लिए अपने बड़े भाई साई कृष्णा का धन्यवाद किया। हाई स्कूल में पढ़ने वाले प्रकाश के बड़े भाई साई उससे भी चार महीने पहले से यह काम कर रहे हैं। कृष्णा ने कहा, 'केवल पढ़ाई ही पर्याप्त नहीं है। काम करना भी आना चाहिए। और अखबार डालना एक बढ़िया शारीरिक और मानसिक व्यायाम है।' उन्होंने बताया कि छोटा भाई प्रकाश पहले सुबह उठता नहीं था लेकिन अब उसकी आदत और दिनचर्या सुधर गई है। हेल्थ के साथ पढ़ाई पर फोकस भी बढ़ा कृष्णा ने कहा कि इस काम से प्रकाश की मैथ और फीजिक्स भी बेहतर हो रही है। उन्होंने बताया, 'अब उसे पता लगता है कि पेपर को एक निश्चित ऊंचाई तक पहुंचने के लिए कितनी ताकत और कौन सा एंगल बेहतर रहता है।' वहीं दोनों भाइयों की मां अनुषा ने बताया कि इस काम से दोनों के अंदर आत्मविश्वास और आत्मनिर्भरता आ रही है।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/39DhUmg
https://ift.tt/3i0vtRm

No comments