Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

बिहार की इस पंचायत में रात 9 बजे तक करानी पड़ी वोटिंग, जानिए वजह

आकाश कुमार, औरंगाबाद बिहार में पंचायत चुनाव के लिए शुक्रवार को पहले फेज की वोटिंग संपन्न हुई। इस दौरान औरंगाबाद के सदर प्रखंड में बेला पं...

आकाश कुमार, औरंगाबाद बिहार में पंचायत चुनाव के लिए शुक्रवार को पहले फेज की वोटिंग संपन्न हुई। इस दौरान औरंगाबाद के सदर प्रखंड में बेला पंचायत स्थित जरमाखाप बूथ पर रात 9 बजे तक वोटिंग हुई। शायद यह पहला मौका है जब मतदान की निर्धारित अवधि शाम के पांच बजे के बीतने के बावजूद लालटेन की रोशनी में रात के करीब 9 बजे तक वोटिंग हुई। बताया जा रहा कि जरमाखाप गांव के राजकीय मध्य विद्यालय मतदान केंद्र पर एक तो सुबह में वोटिंग आरंभ होने में विलम्ब हुआ। इस वजह से लालटेन की रोशनी में कराया गया मतदानयही नहीं कुछ समय बाद ईवीएम मशीन में खराबी आने से मतदान एक से अधिक घंटे तक बाधित हुआ। इन कारणों से वोटिंग में लगातार विलम्ब होता गया और वोटरों की कतार बढ़ती गई। इसके साथ ही 600 से अधिक वोट होने पर अतिरिक्त मतदान केंद्र या सहायक बूथ बनाए जाने की भी प्रशासनिक स्तर पर अनदेखी हुई। लिहाजा मतदान में जो विलम्ब हुआ, वह बढ़ता ही गया। 5 बजे के बाद भी लाइन में लगे थे वोटर, इसलिए देर तक हुई वोटिंगबताया जा रहा कि कुछ वोटर तो विलम्ब होने से अपने घरों को लौट गए। ऐसे वोटर दोपहर बाद फिर से अचानक बूथ पर आए और वोटरों का सैलाब सा उमड़ पड़ा। मतदान के समाप्त होने की निर्धारित अवधि शाम के पांच बजने के पहले बूथ पर मतदाताओं की और भी लम्बी कतार लग गई। यहीं पर चुनाव आयोग की तकनीकी गाइडलाइन ने भी वोटरों का साथ दिया। देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था में किसी भी तरह के चुनाव के मामले में यह प्रावधान है कि मतदान समाप्त होने की अवधि के चंद मिनट पहले तक भी अगर कोई वोटर वोट देने के लिए कतार में लग जाता है, तो ऐसी स्थिति में अवधि के बाद भी मतदाता को मताधिकार का इस्तेमाल करने अधिकार है। बूथ पर हंगामा और शोर-शराबा भी देखने को मिलाइसी प्रावधान का फायदा जरमाखाप में वोटरों को मिला। लाइन में लगे वोटरों को शाम के 7 बजे तक मतदान करने का मौका दिया गया। इस बीच अंधेरा होना शुरू होने पर मतदान कर्मी वोटिंग बंद कराने लगे। इसे लेकर लाइन में लगे वोटरों ने प्रावधानों का हवाला देते हुए हर हाल में वोट देने पर अड़ गए। हंगामा और शोर शराबा भी हुआ। डीएम के निर्देश पर वोटिंग का फैसला, लाइन में लगे वोटरों ने किया मतदानमामले की जानकारी औरंगाबाद के जिलाधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी सौरभ जोरवाल तक पहुंची। जानकारी के बाद आखिरकार शोर शराबा कर रहे वोटरों को सात बजे के बाद भी वोट कराने का मतदानकर्मियों को आदेश दिया। तब जाकर लालटेन की रोशनी में फिर वोटिंग शुरू हुई और कतार में लगे अंतिम वोटर तक को मतदान का मौका दिये जाने में रात के करीब नौ बजे तक मतदान संपन्न हुआ। इस औरंगाबाद में पंचायत चुनाव के दौरान रात के 9 बजे तक मतदान का रिकॉर्ड बन गया।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3AJAJAh
https://ift.tt/3u92Lmt

No comments