Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

फरीदाबाद तक जुड़े थे मौलाना कलीम सिद्दीकी के तार, पीड़ित का आरोप- गले लगाकर विनोद से बना दिया नूर मोहम्मद

फरीदाबाद उत्तर प्रदेश में धर्मांतरण मामले में गिरफ्तार इस्लामिक स्कॉलर मौलाना कलीम सिद्दीकी को 10 दिन की रिमांड पर एटीएस को सौंप दिया गया...

फरीदाबाद उत्तर प्रदेश में धर्मांतरण मामले में गिरफ्तार इस्लामिक स्कॉलर मौलाना कलीम सिद्दीकी को 10 दिन की रिमांड पर एटीएस को सौंप दिया गया है।मेरठ से गिरफ्तार मौलाना कलीम सिद्दीकी के तार फरीदाबाद से भी जुड़े हैं। कलीम सिद्दीकी और उसके पांच अन्य साथियों के खिलाफ सेक्टर 17 में जबरन धर्मांतरण का मामला दर्ज किया गया है। यहां उसने विनोद नाम के शख्स का धर्मांतरण कराया था। विनोद ने ही अब ये मुकदमा दर्ज कराया है। आरोप है कि मौलाना के कुछ साथी अभी भी फरीदाबाद में सक्रिय हैं। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। पीड़ित विनोद ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि 2011 में वह अपने परिवार के साथ सेक्टर 17 की प्रेम नगर की झुग्गियों में रहते थे। उसी के पड़ोस में कुछ मुस्लिम युवक रहा करते थे, जो उसे मुस्लिम समाज की अच्छाइयों के बारे में बताया करते थे और हिंदू धर्म की वह बुराई किया करते थे। 'गले लगाते हुए मतांतरण करवा दिया' इतना ही नहीं आरोपी विनोद को बीच-बीच में कुछ पैसे और अन्य जरूरी सामान भी देते थे। इसी के चलते वह उनके चंगुल में फंस गया। पीड़ित विनोद की मानें तो उसे दिल्ली स्थित शाहीन बाग की एक मस्जिद में मौलाना कलीम सिद्दीकी से मिलवाया गया। जहां उसने विनोद को गले लगाते हुए उसका मतांतरण करवा दिया और उसका नाम नूर मोहम्मद रख दिया। उनके चंगुल से छूटकर आए विनोद ने बताया कि उसे गुजरात और उत्तरप्रदेश में इस्लामी तालीम के लिए भेजा गया, जहां उसे हिंदू धर्म की बुराइयां और इस्लाम धर्म की अच्छाइयां बताई जाती थी। पाकिस्तान में ट्रेनिंग देने के लिए भी बात करते थे पीड़ित विनोद ने पुलिस को बताया कि मौलाना कलीम सिद्दीकी का एक साथ दिलशाद उसे पाकिस्तान में आतंकवाद की ट्रेनिंग के लिए भेजने की भी कहा करता था, जिसकी वजह से वह हमेशा डरा डरा रहता था। गुमनामी में बिताए दो साल 2018 में आरोपियों के चंगुल से छूटकर आए विनोद ने फरीदाबाद में ही 2 साल गुमनामी से बिताए। 2020 में जब उसकी बहन की शादी का उसे पता चला तो वह अपने परिवार से मिला। परिवार के लोगों ने उसे समझा कर अपने साथ मिलाया और अब जाकर उसने सेक्टर 17 थाने में मौलाना कलीम सिद्दीकी समेत 6 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। यूपी एटीएस ने कहा है कि कलीम सिद्दीकी के धर्मांतरण का नेटवर्क उमर गौतम से भी बड़ा है। माना जा रहा है कि मौलाना कलीम के ताल्लुक पाकिस्तान से भी हैं। इसी के चलते वह फरीदाबाद में भी पाकिस्तान भेजने की बात कहता था। माना जा रहा है कि अवैध धर्मांतरण के लिए पाकिस्तान से भी फंडिंग हुई। कलीम सिद्दीकी पर लाखों लोगों के धर्मांतरण का शक है। ऐसे में फरीदाबाद में धर्मांतरण करने वालों की संख्या एक से अधिक हो सकती है। कलीम सिद्दीकी की गिरफ्तारी के बाद उसके साथी फरार कलीम सिद्दीकी की गिरफ्तारी के बाद से उसके साथी फरार हैं। उसके साथी फरीदाबाद और आसपास के इलाके में छुपे हो सकते हैं। मंगलवार देर रात यूपी एटीएस की टीम ने कलीम को मेरठ से एक कार्यक्रम से लौटते हुए समय गिरफ्तार किया था। वह मुजफ्फरनगर के फुलत का रहने वाला है। फुलत के अलावा कई जगहों पर उसके नाम पर मदरसे चलते हैं। उसे देश के साथ ही विदेश से भी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए न्योते आते हैं। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया, 'आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। यह मामला गंभीर है। इसके चलते मामले में सावधानी बरतनी जरूरी है। आरोपितों को गिरफ्तार करना है।'


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/39wPaM5
https://ift.tt/3ABGO1v

No comments