Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

ना माने नवजोत सिंह सिद्धू तो...पंजाब अध्‍यक्ष के नए विकल्प की खोज में जुट गई कांग्रेस!

चंडीगढ़ पंजाब सरकार में चल रहा सियासी घमासान अभी खत्म होता नहीं दिख रहा है। मंगलवार को ने के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद से प...

चंडीगढ़ पंजाब सरकार में चल रहा सियासी घमासान अभी खत्म होता नहीं दिख रहा है। मंगलवार को ने के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद से पार्टी उन्हें अपना इस्तीफा वापस लेने के लिए शांत करने की कोशिश कर रहे है। कांग्रेस नेतृत्व नवजोत सिंह सिद्धू से संपर्क कर रहा है। सूत्रों ने कहा कि अगर वह नहीं मानते हैं तो कांग्रेस भी संभावित विकल्प की तलाश कर रही है। सूत्रों ने कहा कि महासचिव और पंजाब के कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत सभी वरिष्ठ नेताओं से बात कर रहे हैं और खुद को दिल्ली में एक अज्ञात स्थान पर रखा है। पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से भी मुलाकात की संभावना से भी इनकार नहीं है क्योंकि उन्होंने मंगलवार रात दिल्ली में कपूरथला हाउस खाली कर दिया है। कांग्रेस तत्काल प्रतिस्थापन के लिए कुछ नामों पर विचार कर रही है और उनमें से एक आनंदपुर साहिब से सांसद मनीष तिवारी हैं। लुधियाना के सांसद और अमरिंदर सिंह के खेमे से रवनीत सिंह बिट्टू और अमरिंदर सिंह के विरोधी प्रताप सिंह बाजवा के नाम भी चर्चा में हैं। हाल ही में गार्ड ऑफ चेंज की प्रक्रिया के दौरान मुख्यमंत्री पद से चूकने वाले पूर्व पीसीसी अध्यक्ष सुनील जाखड़ पर भी विचार किए जाने की संभावना है। कई नामों पर हो रही है चर्चा कांग्रेस पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को भी शांत करना चाहती है, इसलिए बिट्टू को राजनीतिक वंश (पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री बेअंत सिंह के पोते) के रूप में माना जा सकता है। पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व के साथ उनके अच्छे संबंध हैं। हालांकि, रावत कार्यालय का कहना है कि जरूरत पड़ने पर वह बोलेंगे। नवजोत सिंह सिद्धू ने बुधवार को कहा कि वह अपनी आखिरी सांस तक सच्चाई के लिए लड़ेंगे क्योंकि लड़ाई उन सिद्धांतों के लिए है जिनसे वह समझौता नहीं करेंगे। सिद्धू ने जारी किया वीडियो मेसेज सिद्धू ने अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किए गए एक वीडियो संदेश में कहा, ‘मैं अपनी आखिरी सांस तक सच्चाई के लिए लड़ूंगा।’ सिद्धू ने स्पष्ट रूप से कहा, ‘यह व्यक्तिगत लड़ाई नहीं बल्कि सिद्धांतों की लड़ाई है। मैं सिद्धांतों से समझौता नहीं करूंगा।’ इशारों में उन्होंने कहा कि वह राज्य में पहली बार अनुसूचित जाति के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के नेतृत्व में नवगठित राज्य मंत्रिमंडल में दागी मंत्रियों को वापस लाए जाने को स्वीकार नहीं करेंगे। पंजाबी में वीडियो संदेश में, क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू ने कहा कि उनका एकमात्र धर्म लोगों के जीवन को बेहतर बनाना है। उन्होंने कहा कि न्याय के लिए और पंजाब के अजेंडे के लिए लड़ाई लड़ी थी। उन्होंने यह भी कहा, ‘मैं पंजाब में मुद्दों के साथ समझौता, अजेंडा देख रहा हूं। मैं आलाकमान को नहीं छिपा सकता और न ही उन्हें छिपाने दे सकता हूं।’


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3upJw8n
https://ift.tt/2Yd2iUH

No comments