Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

Rajasthan: बूंदी में आसमान से टूटा कहर, बिजली गिरने से 52 बकरियाें की मौत, 3 लड़कियों की बची जान

अर्जुन अरविंदबूंदी। राजस्थान प्रदेश में गुरुवार को आकाशीय से बिजली ने गजब का कहर ढहाया है। बूंदी जिले के डाबी थाना क्षेत्र में दोपहर के द...

अर्जुन अरविंदबूंदी। राजस्थान प्रदेश में गुरुवार को आकाशीय से बिजली ने गजब का कहर ढहाया है। बूंदी जिले के डाबी थाना क्षेत्र में दोपहर के दौरान तेज गर्जना के साथ गिरी। जिससे पलभर में 2 पशुपालकों की 52 बकरियों की दर्दनाक मौत हो गई। मृत पड़ी बकरियों के शव देखकर दोनों पशुपालकों के परिवारों में कोहराम मच गया। सड़क पर आए दो परिवारइस हादसे में दोनों पीड़ित पशु पालकों को बड़ा भारी आर्थिक नुकसान आकाशीय से बिजली ने बकरियों की जान लेकर पहुंचाया है।दोनों पशुपालकों का परिवार बकरियों से अर्जित होने वाली आय पर निर्भर था। अब परिवार आकाशीय बिजली से पहुंचे नुकसान के बाद सड़क पर आ गया है। यह घटना बूंदी जिले के कछालिया गांव की है। मंदिर का गुंबद क्षतिग्रसत, 3 लड़कियों की जान बची गांव के निवासी अर्पित भाट ने एनबीटी से बातचीत करते हुए बताया कि दोपहर 2 बजे के आसपास ग्रामीण इलाके में मूसलाधार बारिश शुरू हुई थी। करीब 1 घंटे तक झमाझम बारिश हुई। इस दौरान तेज गर्जना हुई। एकाएक आकाशीय बिजली गांव में स्थित माता जी के मंदिर के गुंबद पर आकर जा पड़ी। इससे माता मंदिर का गुंबद क्षतिग्रस्त हो गया। मंदिर परिसर में बारिश से बचने के लिए छिपी 52 बकरियां काल का ग्रास बन गई। उनकी मौत हो गई। शुक्र यह रहा कि इस घटना के दौरान मंदिर परिसर में गांव की 3 बालिकाएं भी मौजूद थी। जिनकी जान बच गई। शुक्रवार को होगा पोस्टमार्टमअर्पित ने कहा मारी गई बकरियां कछालिया गांव के रहने वाले पशुपालक जगदीश और रामलाल की हैं। जिन्हें बड़ा आर्थिक नुकसान हुआ हैं। ग्रामीणों ने सरकार से पीड़ित पशुपालकों को मुआवजा दिलवाने की मांग की। शुक्रवार को बूंदी पशु चिकित्सालय की टीम मृत बकरियों के शव का पोस्टमार्टम करने गांव में पहुंचेगी। घटना के बाद ग्राम पंचायत डोरा की सरपंच कांति बाई भील, ग्राम सचिव प्रेषक व उपसरपंच मुकेश बंजारा मोके पर पहुंचे। पशुपालको को हरसंभव मदद दिलाने का भरोसा दिलाया।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3EK4sLZ
https://ift.tt/39AW2rX

No comments