Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

इमरान की बोलती बंद करने वाली भारतीय बेटी स्नेहा दुबे का टाटानगरी कनेक्शन जानिए, जिनके तगड़े जवाब से UN में पाकिस्तान हुआ पानी-पानी

न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) की बैठक के दौरान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) की ओर से फिर कश्मीर राग ही अला...

न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) की बैठक के दौरान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) की ओर से फिर कश्मीर राग ही अलापा गया। हालांकि, भारत की बेटी स्नेहा दुबे ने राइट टू रिप्लाई का इस्तेमाल करते हुए पाकिस्तानी पीएम को करारा जवाब दिया। यूएनजीए में भारत की फर्स्ट सेक्रेटरी स्नेहा दुबे (Sneha Dubey) ने बेहद सख्त लहजे में देश का पक्ष रखा और पड़ोसी मुल्क की पोल खोलकर रख दी। इमरान के एक-एक झूठ का स्नेहा ने मुंहतोड़ जवाब दिया और उन्हें अपने गिरेबान में झांकने की नसीहत तक दे डाली। उनके इस अंदाज की देशभर में जमकर तारीफ हो रही है। यही नहीं हर कोई स्नेहा दुबे के बारे में जानना चाह रहा है।

Sneha Dubey News: UNGA में भारत की फर्स्ट सेक्रेटरी स्नेहा दुबे ने अंतरराष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान के PM को बुरी तरह धो डाला। यूएन में दुनिया के सामने पाकिस्तान की बोलती बंद करने वाली स्नेहा दुबे 2012 बैच की आईएफएस अधिकारी हैं। गोवा में पली बढ़ीं स्नेहा का झारखंड के जमशेदुपर से खास कनेक्शन है।


Sneha Dubey : इमरान की बोलती बंद करने वाली भारतीय बेटी स्नेहा दुबे का टाटानगरी कनेक्शन जानिए, जिनके तगड़े जवाब से UN में पाकिस्तान हुआ पानी-पानी

न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) की बैठक के दौरान पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) की ओर से फिर कश्मीर राग ही अलापा गया। हालांकि, भारत की बेटी स्नेहा दुबे ने राइट टू रिप्लाई का इस्तेमाल करते हुए पाकिस्तानी पीएम को करारा जवाब दिया। यूएनजीए में भारत की फर्स्ट सेक्रेटरी स्नेहा दुबे (Sneha Dubey) ने बेहद सख्त लहजे में देश का पक्ष रखा और पड़ोसी मुल्क की पोल खोलकर रख दी। इमरान के एक-एक झूठ का स्नेहा ने मुंहतोड़ जवाब दिया और उन्हें अपने गिरेबान में झांकने की नसीहत तक दे डाली। उनके इस अंदाज की देशभर में जमकर तारीफ हो रही है। यही नहीं हर कोई स्नेहा दुबे के बारे में जानना चाह रहा है।



जमशेदपुर में हुआ स्नेहा दुबे का जन्म
जमशेदपुर में हुआ स्नेहा दुबे का जन्म

यूएन में दुनिया के सामने पाकिस्तान की बोलती बंद करने वाली स्नेहा दुबे 2012 बैच की आईएफएस अधिकारी हैं। गोवा में पली बढ़ीं स्नेहा का झारखंड के जमशेदपुर (टाटानगर) से खास कनेक्शन है। उनका जन्म जमशेदपुर जिले में हुआ। यहीं पर उनका बचपन बीता। बाद में उनका परिवार गोवा शिफ्ट हो गया।



इसलिए जमशेदपुर से गोवा शिफ्ट हुआ परिवार
इसलिए जमशेदपुर से गोवा शिफ्ट हुआ परिवार

दरअसल, स्नेहा दुबे के पिता जमशेदपुर में एक कंपनी में काम करते थे। हालांकि, कुछ समय बाद ये कंपनी बंद हो गई तो उनके पिता को गोवा में एक केबल कंपनी में नौकरी मिल गई। इसी के बाद पूरा परिवार जमशेदपुर से गोवा शिफ्ट हो गया। उनके पिता मल्टिनेशनल कंपनी में काम करते हैं और मां टीचर, भाई बिजनसमैन हैं। गोवा में ही उनकी शुरुआती पढ़ाई हुई। ग्रेजुएशन उन्होंने पुणे के फर्ग्युसन कॉलेज से पूरी की।

इसे भी पढ़ें:- इमरान खान के हर झूठ का करारा जवाब देती भारत की यह अफसर बिटिया कौन है?



जेएनयू से किया पीजी और एमफिल
जेएनयू से किया पीजी और एमफिल

साल 2008 में स्नेहा दुबे ने पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए दिल्ली का रुख किया। यहां उन्होंने जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय से पीजी और फिर एमफिल की पढ़ाई पूरी की। उन्होंने जेएनयू में स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज में एमफिल की। साल 2012 में एमफिल के बाद उन्होंने अपने पहले ही प्रयास में सिविल सेवा परीक्षा पास की। उनका भारतीय विदेश सेवा (IFS) के लिए उनका चयन हुआ और विदेश मंत्रालय में उनकी पहली नियुक्ति हुई। फिर उन्हें मैड्रिड स्थित भारतीय दूतावास में पोस्टिंग दी गई।



स्नेहा दुबे का शुरू से ही IFS अफसर बनने का था सपना
स्नेहा दुबे का शुरू से ही IFS अफसर बनने का था सपना

स्नेहा दुबे हमेशा से इंडियन फॉरन सर्विस जॉइन करना चाहती थीं। घूमने की शौकीन स्नेहा का मानना है कि IFS बनकर उन्हें देश का प्रतिनिधित्व करने का सबसे बेहतरीन मौका मिला है जो वह हमेशा से करना चाहती थीं। वह बताती हैं कि उनका कोई प्लान 'बी' नहीं रहा। उनका बस एक ध्येय था सिविल परीक्षा पास करना और दूसरे विकल्पों को रखने से वह इस पर से ध्यान भटकाना नहीं चाहती थीं। उन्होंने 12 साल की उम्र में ही तय कर लिया था कि उन्हें सिविल सर्विसेज में ही जाना है। ट्रैवल करने से लेकर नई संस्कृतियों को जानने और देश का प्रतिनिधित्व करने तक, वह हर सपना इसके जरिए सच करना चाहती थीं।

इसे भी पढ़ें:- शेरनी की दहाड़... इमरान खान को 'धोने' के बाद हर तरफ हो रही भारत की बेटी स्नेहा दुबे की तारीफ





from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://navbharattimes.indiatimes.com/state/jharkhand/jamshedpur/know-all-about-sneha-dubey-jamshedpur-jharkhand-connection-who-gave-befitting-reply-to-pakistan-pm-imran-khan-unga/articleshow/86523915.cms
https://navbharattimes.indiatimes.com/photo/%2086523915/photo-86523915.jpg

No comments