Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

West Bengal election result-2021

West Bengal election result-2021

महापर्व छठ पर बिहार के इस जिले में बने सूप की भारी डिमांड, दिल्ली-हरियाणा समेत इन राज्यों में व्रती करते हैं इस्तेमाल

खगड़िया महापर्व छठ के मौके पर बाजारों की रौनक देखते ही बन रही है। छठव्रती अपने-अपने तरीके से तैयारियों में जुटे हुए हैं। लोकआस्था के इस म...

खगड़िया महापर्व छठ के मौके पर बाजारों की रौनक देखते ही बन रही है। छठव्रती अपने-अपने तरीके से तैयारियों में जुटे हुए हैं। लोकआस्था के इस महापर्व में सूप-डाला की डिमांड काफी बढ़ जाती है। लोग इसे खरीदते समय कई बातों का ध्यान रखते हैं। खास तौर से खगड़िया में बनने वाले सूप की मांग बिहार के साथ-साथ देश के दूसरे हिस्सों में काफी बढ़ जाती है। यहां के बनने वाले सूप देश की राजधानी दिल्ली के साथ-साथ बंगाल, झारखंड, पंजाब, हरियाणा समेत दूसरे राज्यों में जाते हैं। सूप बनाने में महादलित परिवार निभाते हैं अहम भूमिका छठ पर सूप की मांग पूरी करने के लिए करीब 6 महीने पहले से ही ऑर्डर मिलने शुरू हो जाते हैं। खास बात ये है कि खगड़िया जिले के महादलित परिवार इस सूप को बनाने में अहम भूमिका अदा करते हैं। छठ पूजा जैसे-जैसे करीब आती है तो मांग की आपूर्ति के हिसाब से ये परिवार इसे बनाने में ज्यादा समय देने लगते हैं। यही नहीं बड़ों के साथ बच्चे भी सूप बनाने में जुटे नजर आते हैं। 10 हजार से ज्यादा परिवारों को मिलता है रोजगारमहापर्व छठ में सूप की डिमांड का फायदा यहां के करीब 10 हजार से ज्यादा महादलित परिवार को मिलता है। ये परिवार बताते हैं कि इस दौरान ज्यादातर समय वो सूप बनाने में निकालते हैं, इससे उनकी आमदनी में भी काफी बढ़ोतरी होती है। यही वजह है कि ज्यादा से ज्यादा सूप बनाने के लिए महिलाएं और परिवार के बच्चे भी सहयोग करते हैं। 6 महीने पहले से शुरू हो जाती है डिमांडबताया जाता है कि जब परिवार सूप तैयार करते हैं तो फिर वहां बस स्टैंड भेजा जाता है फिर वहां से बिहार के दूसरे जिलों के साथ-साथ दूसरे राज्यों में भी इसे भेजा जाता है। अन्य माध्यमों से भी सूप को दूसरे इलाकों में भेजा जाता है। जानकारी के मुताबिक, पिछले साल कोरोना संकट के चलते इन परिवारों की मुश्किलें बढ़ी थी, क्योंकि सूप की डिलिवरी काफी प्रभावित रही थी। हालांकि, इस बार स्थिति सामान्य है ऐसे में सूप निर्माण में सभी परिवार ने पूरी ताकत झोंक रखी है। जिससे डिमांड के हिसाब से आपूर्ति उपलब्ध कराई जा सके।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/30720iX
https://ift.tt/3kdWgep

No comments