Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

कुशीनगर हादसा: एक एम्बुलेंस, 13 लोग और साथ पूरा गांव...जब पता चला कि लाए गए लोगों में से कोई न बचा

कुशीनगर: में हुआ हादसा (Kushinagar Accident) देखकर हर कोई सहम गया। गांव में तो कोहराम मचा ही लेकिन अस्पताल में जो मंजर था, वह धड़कन रोक द...

कुशीनगर: में हुआ हादसा (Kushinagar Accident) देखकर हर कोई सहम गया। गांव में तो कोहराम मचा ही लेकिन अस्पताल में जो मंजर था, वह धड़कन रोक देने वाला था। एक साथ 13 लाशें देखकर ऐसी चीख पुकार मची कि अच्छे अच्छे खुद को न संभाल पाएं। नेबुआ नौरंगिया थाना क्षेत्र में एक वैवाहिक कार्यक्रम के दौरान कुएं में गिरने से 13 लोगों की मौत हो गई है। मरने वालों में 11 बच्चियां और 2 महिलाएं बताई जा रही हैं। करीब डेढ़ दर्जन महिलाओं के गंभीर रूप से घायल होने की खबर है। सभी लोग हल्दी के दिन मटकोड़वा की रस्म के लिए कुंए पर पहुंचे थे। हादसा नौरंगिया गांव में उस वक्त हुआ, जब कुआं पूजन की रस्म के लिए महिलाएं व बच्चियां इकठ्ठा थीं। भीड़ अधिक होने के चलते बच्चियां व महिलाएं कुएं की मुंडेर और कुएं पर बने चबूतरे पर पर बैठीं थीं। अचानक से कुएं का चबूतरा टूट गया और बच्चियां व महिलाएं कुएं में गिर गईं। उन्हें बचाने में भी कई महिलाएं कुएं में जा समायीं। घटना करीब 9 बजे के आसपास की है। अस्पताल में मंजर देख कांप गए दिलदो घंटे की मशक्कत के बाद 11 बच्चियों व दो महिलाओं को कुएं से निकालकर अस्पताल भेजा गया। हादसे में घायल लोगों को पहले नेबुआ नौरंगिया अस्पताल पहुंचाया गया, बाद में उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। जिला अस्पताल में जब पहले 13 लोगों को लेकर एंबुलेंस पहुंची तो वहां अकेले एंबुलेंस ही नहीं पहुंची थी, साथ में पहुंचा था पूरा गांव। हर कोई डॉक्टरों को घेरे था, सब बदहवास से थे और मन ही मन प्रार्थना कर रहे थे कि अब कोई और बुरी खबर न मिले। लेकिन हर प्रार्थना कहां कबूल होती है। आधे घंटे बाद ग्रामीणों को सूचित कर दिया गया कि अस्पताल में जो लो लाए गए, वह मृत अवस्था में ही जिला अस्पताल पहुंचे थे। एंबुलेंस पहुंचने में हुई देर ग्रामीणों का कहना है कि 10 बार फोन करने के बावजूद भी एक भी एंबुलेंस करीब डेढ़ घंटे तक घटनास्थल पर नहीं पहुंची। ऐसा तब हुआ, जब घटनास्थल से अस्पताल की दूरी महज 3 किलोमीटर है। हालांकि पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई थी। इतना ही नहीं पुलिस ने अपनी गाड़ियों से घायलों को अस्पताल पहुंचाया।


from Local News, लोकल न्यूज, Hindi Samachar, हिंदी समाचार, state news in hindi, राज्य समाचार , Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/lB8U92C
https://ift.tt/u1nG6sS

No comments