Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

मुंबई को मिलेगा एक और नया मेडिकल संस्थान, स्वास्थ्य सेवाओं पर 11,000 करोड़ रुपये खर्च करने की घोषणा

मुंबई: राज्य सरकार(Maharashtra Government) ने पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल पढ़ाई के लिए सीटें बढ़ाने का निर्णय लिया है। इसके तहत तीन मेडिकल कॉलेज(...

मुंबई: राज्य सरकार(Maharashtra Government) ने पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल पढ़ाई के लिए सीटें बढ़ाने का निर्णय लिया है। इसके तहत तीन मेडिकल कॉलेज(Medical College) व रिसर्च सेंटर शुरू किए जाएंगे। इसकी घोषणा शुक्रवार को पेश हुए राज्य के बजट में की गई है। इन तीन नए कॉलेज में से एक मेडिकल कॉलेज मुंबई को मिला है। इसके अलावा सेंट जॉर्ज अस्पताल अब पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल शिक्षा व रिसर्च सेंटर्स के रूप में परिवर्तित किया जाएगा। यहां फिलहाल हर वर्ष 225 डॉक्टर्स पोस्ट ग्रेजुएट की पढ़ाई करते हैं। अब सीटें बढ़ने से यहां डॉक्टर्स भी बढ़ेंगे और लोगों को सुविधा भी अधिक मिलेगी। वित्त मंत्री अजित पवार ने शुक्रवार को विधान भवन में बजट पेश किया। बजट भाषण के दौरान पवार ने तीन नए मेडिकल कॉलेज की घोषणा की है। यह मेडिकल कॉलेज मुंबई, नासिक और नागपुर में शुरू होंगे। नासिक में आरोग्य विज्ञान यूनिवर्सिटी में पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल इंस्टीट्यूशन और नागपुर में डॉ. बाबा साहेब अंबेडकर मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च सेंटर्स शुरू किए जाएंगे। पवार ने अगले तीन वर्षों में स्वास्थ्य सेवाओं पर 11,000 करोड़ रुपये खर्च करने की घोषणा की है। जिला अस्पतालों में टेलिमेडिसिन सुविधा विशेषज्ञ डॉक्टरों की कमी की वजह से अकसर ग्रामीणों को शहरों में इलाज के लिए आना पड़ता है। इसे गंभीरता से लेते हुए राज्य सरकार ने शिव आरोग्य योजना के माध्यम से जिला अस्पतालों में टेलिमेडिसिन केंद्र स्थापित किए जाएंगे। इसके जरिए शहरों के विशेषज्ञ डॉक्टरों से सलाह ली जा सकेगी। धीरे-धीरे इस सुविधा का विस्तार उपजिला अस्पताल में किया जाएगा। देश की पहली मेडिकल कॉलोनी पुणे में सभी उपचार प्रणाली एक ही जगह पर उपलब्ध हो। इसके लिए पुणे शहर के पास 300 एकड़ की जमीन पर अत्याधुनिक 'इंद्रायणी मेडिसिटी' शुरू करने का राज्य सरकार का संकल्प है। पवार ने अपने बजट भाषण में कहा कि यह देश की पहली मेडिकल कॉलोनी होगी, जिसमें अस्पताल, मेडिकल रिसर्च, दवाई उत्पादन, वेलनेस और फिजियोथेरेपी केंद्र होगा। क्या कहते हैं विशेषज्ञ हेल्थ इकोनॉमिस्ट डॉ. रवि दुग्गल ने बताया कि पिछले वर्ष के संशोधित बजट से इस वर्ष के बजट में 6 फीसद की कटौती की गई है। सार्वजनिक स्वास्थ्य, परिवार कल्याण और मेडिकल एजुकेशन का चालू वर्ष का संशोधित बजट 22737 करोड़ था, जबकि 2022-23 का प्रस्तावित बजट 21429 करोड़ है। इस बजट में मेडिकल एजुकेशन में 11 प्रतिशत की वृद्धि दिखी। चालू वित्तीय वर्ष में मेडिकल एजुकेशन का संशोधित बजट 5359 करोड़ रुपये था, जबकि वित्तीय वर्ष 2022-23 में 5872 करोड़ रुपये प्रस्तावित किया। एमपीजीवाय योजना, पीएमजीवाई योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन, राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य मिशन आदि में सरकार की फंडिंग कम रही। यह घोषणाएं भी - मुंबई के बाहर नांदेड़, अहमदनगर, अमरावती, जालना, भंडारा और सातारा में 50 बेड का ट्रॉमा केयर यूनिट - मोतियाबिंद की सर्जरी के लिए 60 सरकारी अस्पतालों में आधुनिक 'फेको' उपचार प्रणाली - 200 बेड के सरकारी अस्पताल में बिना सर्जरी के किडनी स्टोन निकालने के लिथोट्रिप्सी उपचार प्रणाली - कैंसर रोग निदान के लिए 8 मोबाइल वैन - टाटा कैंसर रिसर्च सेंटर व अस्पताल को रायगड जिला के खालापुर में 10 एकड़ जमीन आयुर्वेदिक अस्पताल और औषधीय वनस्पतियों के रोपण के लिए दी जा रही है। - हर जिले में 100 बेड का महिला व नवजात शिशु अस्पताल शुरू किए जाएंगे - जालना में बनेगा मेन्टल अस्पताल


from Local News, लोकल न्यूज, Hindi Samachar, हिंदी समाचार, state news in hindi, राज्य समाचार , Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/XuC08Bf
https://ift.tt/GAaRYLg

No comments