Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

वसुंधरा ने गहलोत से लेकर पूनियां तक को दिखाया आइना! तीसरी बार सत्ता का मांगा आशीर्वाद

अर्जुन अरविंद, बूंदी: राजस्थान की वरिष्ठ भाजपा नेता और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (ex cm ) ने मंगलवार को बूंदी जिले के केशवरायपाटन मे...

अर्जुन अरविंद, बूंदी: राजस्थान की वरिष्ठ भाजपा नेता और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (ex cm ) ने मंगलवार को बूंदी जिले के केशवरायपाटन में अपना जन्मदिन खास अंदाज में मनाया। पहले भगवान केशवराय के दर्शन, पूजा-अर्चना, हवन किया। फिर समर्थकों से खचाखच भरी सभा को संबोधित किया। इसी मंच से वसुंधरा ने प्रदेश में तीसरी बार प्रचंड बहुमत वाली सरकार बनाने की हुंकार भरी। कार्यकर्ताओं से ये संकल्प लेकर जाने को कहा। जनसमूह के साथ जन्मदिन मनाने और प्रदेशभर से अपने समर्थकों को यहां जुटाने पर प्रदेश के सियासी हलकों में इस सभा को वसुंधरा का शक्ति प्रदर्शन कहा जा रहा है। गहलोत से लेकर पूनियां तक को संदेश 10 मार्च को उत्तर प्रदेश की विधानसभा चुनाव का परिणाम घोषित होगा। लेकिन उसके पहले राजे ने राजस्थान में साल 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर बड़ा शक्ति प्रदर्शन किया है। राजस्थान का सीएम बनाने की तैयारी करने वाले अपने विरोधियों को राजनीति की परिभाषा समझा दी। उन पर तीखा हमला भी बोला। राजे ने अपने संगठन के भीतर के विरोधियों के साथ विपक्षी पार्टी कांग्रेस की गहलोत सरकार पर भी तीखा प्रहार किया। इस भाषण में वसुंधरा की ओर से बिना नाम लिए पार्टी प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां को भी संदेश देने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि राजमाता कभी झुकी नहीं, और मैं उनकी बेटी हूं। उनके पद चिन्हों पर चलने की कोशिश कर रही हूं। साल 1979 में युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष रही हूं। 42 साल से राजनीति कर रही हूं। राजनीति क्या होती है? यह मैंने समझा है। राजनीति में तपना पड़ता है। यह कोई 2 दिन का काम नहीं है। लोग यह सोचते हैं कि आज आए और नेता बन गए। राजे ने कहा राजनीति में तपना पड़ता है। मेहनत करनी पड़ती है। इतना ही नहीं राजे ने कहा कि राजनीति में दिमाग से ही काम नहीं चलता, इसमें दिल भी डालना पड़ता है। तीसरी बार सरकार बनाने की हुंकार भरी वसुंधरा राजे ने अपने जन्मदिन पर देव दर्शन कार्यक्रम के साथ हुई सभा को संबोधित करते हुए कहा कि साल 2003 में जब वह पहली बार मुख्यमंत्री बनी थी। तब राजस्थान में बीजेपी को प्रचंड बहुमत 120 सीटों के साथ मिला। दूसरी बार जब वह मुख्यमंत्री बनी तो उससे भी ज्यादा प्रचंड बहुमत राजस्थान की जनता ने बीजेपी को दिया और 163 सीटें बीजेपी को मिली। आज इस कार्यक्रम के जरिए एक बार फिर वसुंधरा राजे ने राजस्थान की तीसरी बार मुख्यमंत्री बनने और पार्टी की सरकार बनाने को लेकर हुंकार भर दी। वसुंधरा राजे ने अपने समर्थकों और पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि वह संकल्प लें और फिर से राजस्थान के हाथों को मजबूत करने के लिए एक मजबूत सरकार प्रदेश में बनाएं। और गहलोत सरकार को विदा करें। गहलोत सरकार ने विकास तो किया लेकिन भ्रष्टाचार, अपराध, महिला अत्याचार में पूर्व मुख्यमंत्री ने मौजूदा मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार पर तीखा हमला बोला। उन्होंने कहा कि इस सरकार में कोई विकास नहीं हुआ है। गहलोत सरकार ने एक विकास किया है। जिसमें भ्रष्टाचार का विकास हुआ। अपराधों का विकास हुआ। महिला अत्याचारों का विकास हुआ। जिसमें राजस्थान देश में अव्वल है। उन्होंने कहा कि यह सरकार जब सत्ता से विदा लेगी। तब राजस्थान प्रदेश कर्ज में डूबा होगा। 80 से 85 हजार करोड़ का कर्ज राजस्थान के माथे पर होगा। वसुंधरा राजे ने कहां की यह वही कांग्रेस पार्टी हैं जिसने विधानसभा चुनाव के दौरान किसानों को गुमराह किया था। कहा था कि 10 दिन में कर्जा माफी कर देंगे। लेकिन हुआ कुछ नहीं। गहलोत सरकार के हाल ही में जारी हुए बजट को लेकर भी वसुंधरा राजे ने सरकार पर हमला किया। कहा कि लोक लुभावने बजट से काम चलने वाला नहीं है। बातों से काम चलने वाला नहीं है। बजट को इंप्लीमेंट भी करना होगा। कार्यकर्ताओं, समर्थकों को बताया अभिमान, मांगा प्रचंड बहुमत का आशीर्वादवसुंधरा राजे ने अपने जन्मदिन पर राजस्थानभर से शामिल हुए समर्थकों कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि वे राजस्थान का कोई जिला छोड़ने वाली नहीं है। इसके राजनीति मायने निकाले तो राजे ने कहा पूरा राजस्थान को वह अपनी ताकत कार्यकर्ताओं के जरिए मानती हैं। अपने विरोधियों को स्पष्ट कह रही है कि राजस्थान के गांव गांव जिले ढाणी में उनके चाहने वाले हैं। राजे ने मंच से अपने कार्यकर्ताओं समर्थकों के लिए कहा कि वे उनकी शक्ति, ताकत, स्वाभिमान और अभिमान है। यह एक ऐसा परिवार है, जो सब कुछ कर सकता है। वसुंधरा राजे ने इन शब्दों के साथ अपने समर्थकों कार्यकर्ताओं से साल 2023 में फिर से प्रचंड बहुमत कि सरकार के लिए आशीर्वाद मांगा। सभा के बाद वसुंधरा राजे ने चंबल नदी में दीपदान किया और चंबल माता को चुनरी उढाई।


from Local News, लोकल न्यूज, Hindi Samachar, हिंदी समाचार, state news in hindi, राज्य समाचार , Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/dC7coi8
https://ift.tt/JHY5dq4

No comments