Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

घर में रखे साढ़े 4 लाख रुपये की खातिर भतीजे ने की थी लकड़ी कारोबारी और उनके बेटे की हत्या

गाजियाबाद गाजियाबाद की ट्रॉनिका सिटी की कासिम विहार कॉलोनी में करीब 12 दिन पहले हुए लकड़ी कारोबारी और उनके बेटे की हत्या का पुलिस ने सोमव...

गाजियाबाद गाजियाबाद की ट्रॉनिका सिटी की कासिम विहार कॉलोनी में करीब 12 दिन पहले हुए लकड़ी कारोबारी और उनके बेटे की हत्या का पुलिस ने सोमवार को खुलासा कर दिया। कारोबारी के भतीजे को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। कारोबारी का मोबाइल, हत्या में इस्तेमाल चाकू और लूटे गए 12 हजार रुपये बरामद हुए हैं। जब वारदात हुई, तब आरोपी के मोबाइल की लोकेशन कारोबारी के मोबाइल के पास ही थी। इसी क्लू के आधार पर पुलिस ने केस को सॉल्व किया। एसपी देहात डॉ. ईरज राजा ने बताया कि नैमुअल मूलरूप से बदायूं के रहने वाले थे। उनका भतीजा मेराज 16 सितंबर रात करीब साढ़े 9 बजे नैमुअल के पास पहुंचा और घर में सोने की गुजारिश की। मेराज ने कहा कि उसके पिता कहीं और उसे भेजना चाहते हैं, ऐसे में घर में ही रुकने दें। नैमुअल उसकी बातों में आ गए। मेराज को खबर थी कि नैमुअल के पास कही से साढ़े 4 लाख रुपये आए हैं। इसी लालच में उसने ऐसा नाटक किया था। घर में नैमुअल और उनका बेटा उवेश था। पत्नी शाइमा अपने मायके बिहार गई थीं। रात में मेराज चाकू लेकर सो गया। सुबह करीब साढ़े 3-4 बजे के बीच चाकू लेकर उठा तभी उवेश उठ गया। आरोप है कि प्लान फेल होता देखकर मेराज ने 8 साल के उवेश का गला रेत दिया। तब तक नैमुअल की भी नींद खुल गई। जब तक नैमुअल कुछ करते, मेराज ने पास पड़े पंखे से उनके सिर पर हमला कर दिया। फिर चाकू से उनका गला रेत दिया। वारदात के बाद नैमुअल का मोबाइल लेकर दिल्ली के कर्दमपुरी गोदाम में चला गया। चाकू मारने की वजह से मेराज के कपड़े खून से सन गए थे। ऐसे में अपने कपड़े धोने के बाद नैमुअल के कपड़े पहनकर वह गोदाम गया था। बाद में खून लगे कपड़े गोदाम में छिपा दिया था। रुपये नहीं मिले तो हुआ शक शाइमा ने बताया कि नैमुअल ने अलमारी में 2 जगह 3 लाख रुपये रखे थे। एक जगह रखे एक लाख रुपये तो मिल गए, लेकिन 2 लाख रुपये नहीं मिले। पुलिस ने इस एंगल को भी जांच में रखा। हालांकि मेराज के पास से केवल 12 हजार रुपये बरामद हुए हैं। पुलिस का दावा है कि आरोपी को अलमारी से केवल 15 हजार रुपये ही मिले थे। 3 हजार रुपये उसने खर्च कर दिए थे।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3zL1yTp
https://ift.tt/39JGXV2

No comments