Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

BJP ने 80 नेता उतारे, ममता ने भी झोंकी पूरी ताकत, भवानीपुर में आज इतना गहमागहमी क्यों?

भवानीपुर पश्चिम बंगाल की हाई प्रोफाइल सीट भवानीपुर में आज चुनाव प्रचार का आखिरी है। इस सीट पर टीएमसी से सीएम ममता बनर्जी उम्मीदवार हैं और ...

भवानीपुरपश्चिम बंगाल की हाई प्रोफाइल सीट भवानीपुर में आज चुनाव प्रचार का आखिरी है। इस सीट पर टीएमसी से सीएम ममता बनर्जी उम्मीदवार हैं और उन्हें चुनौती दे रही हैं बीजेपी से प्रियंका टिबरेवाल। प्रियंका के समर्थन में बीजेपी के 80 नेता प्रचार के लिए मैदान में उतरेंगे। वहीं टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी ने वोटरों से अपील की कि ममता बनर्जी कम से कम 1 लाख वोटों से जीत दर्ज करें। भवानीपुर में 30 सितंबर को होने वाले उपचुनाव के लिए दोनों उम्मीदवारों ने अपनी सारी ताकत झोंक दी है। बीजेपी की ओर से जारी बयान में कहा गया कि आखिरी दिन भवानीपुर के सभी 8 वार्डों में पार्टी के 80 नेता चुनाव प्रचार के लिए मैदान में उतरेंगे। बंगाल बीजेपी के नए अध्यक्ष सुकांता मजूमदार के साथ दिलीप घोष, सुवेंदु अधिकारी, अग्निमित्रा पॉल समेत तमाम नेता प्रियंका के लिए वोट मांगेंगे। सुबह 8 से 11 और दोपहर 2 से पांच बजे तक दो चरणों में ये नेता ताबड़तोड़ रैली करेंगे। वहीं टीएमसी के महासचिव और ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने अपील की कि ममता बनर्जी को कम से कम 1 लाख वोटों के अंतर से जिताएं। ममता के लिए क्यों अहम है यह चुनाव? भवानीपुर के साथ जंगीपुर और शमशेरगंज में भी इसी दिन उपचुनाव होंगे। भवानीपुर सीट से तृणमूल कांग्रेस ने ममता बनर्जी के नाम की घोषणा की थी। यह चुनाव ममता बनर्जी के लिए बेहद अहम है क्योंकि अपने पद पर बने के लिए ममता बनर्जी को विधानमंडल का सदस्य होना जरूरी है। इसके लिए उनके पास 3 नवंबर तक का समय है, इससे पहले उन्हें किसी भी विधानसभा सीट से जीत दर्ज करना होगा। नंदीग्राम से हार गई थीं ममता भवानीपुर ममता बनर्जी का गढ़ माना जाता है। वह यहां से दो बार विधायक रह चुकी हैं हालांकि इस साल विधानसभा चुनाव में उन्होंने नंदीग्राम को चुना था। यहां उन्हें उनके पूर्व सहयोगी और बीजेपी नेता सुवेंदु अधिकारी से 1,956 वोटों से मात मिली थी। वहीं भवानीपुर से टीएमसी के वयोवृद्ध नेता सोबनदेव चट्टोपाध्याय विधायक चुने गए। नतीजों के बाद सोबनदेव ने ममता बनर्जी के लिए अपनी सीट खाली छोड़ दी थी।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3AOgS38
https://ift.tt/3lWdT2e

No comments