Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

'भकचोन्हर'... नाराज बेटा...'गोरधोआई' फिर सब सेट, माने एक्शन-इमोशन और सबकुछ, कुछ ऐसी थी लालू की री-एंट्री की कहानी

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) करीब 3 साल बाद रविवार को पटना वापस लौट आए। हालांकि, उनके बिहार पहुंचने से पहले ही सूबे ...

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) करीब 3 साल बाद रविवार को पटना वापस लौट आए। हालांकि, उनके बिहार पहुंचने से पहले ही सूबे का सियासी पारा चढ़ गया। इसकी शुरुआत तभी हो गई जब उन्होंने दिल्ली में बिहार के कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास (Bhakt Charan Das) को लेकर कमेंट किया। उन्होंने कांग्रेस प्रभारी को 'भकचोन्हर' दास कहा, जिस पर बिहार कांग्रेस के कई नेताओं ने पलटवार करते हुए आरजेडी को चेतावनी तक दे दी।इसके बाद लालू जब पटना पहुंचे तो उनके बड़े बेटे तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) का बगावती तेवर सामने आया। वो धरने पर बैठ गए, फिर आरजेडी मुखिया खुद नाराज बेटे से मिलने पहुंचे तो बेटे ने उनके पैर धुले और फिर अपना धरना खत्म किया। कुल मिलाकर लालू की पटना (Lalu Yadav In Patna) वापसी में एक्शन-इमोशन सबकुछ नजर आया। आखिर कैसे हुआ ये सियासी घटनाक्रम बताते हैं आगे...

Lalu Yadav News : लालू यादव जब रविवार को बिहार लौटे तो दोनों बेटे तेजप्रताप और तेजस्वी उन्हें लेने के लिए खुद एयरपोर्ट पहुंचे। हालांकि, इसके बाद तेजप्रताप जब राबड़ी देवी के 10 सर्कुलर रोड आवास पहुंचे तो उनकी एंट्री नहीं होने के बाद सारा ड्रामा शुरू हुआ। इस बीच तेजप्रताप को धरने पर भी बैठना पड़ा।


'भकचोन्हर'... नाराज बेटा...'गोरधोआई' फिर सब सेट, माने एक्शन-इमोशन और सबकुछ, कुछ ऐसी थी लालू की री-एंट्री की कहानी

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) करीब 3 साल बाद रविवार को पटना वापस लौट आए। हालांकि, उनके बिहार पहुंचने से पहले ही सूबे का सियासी पारा चढ़ गया। इसकी शुरुआत तभी हो गई जब उन्होंने दिल्ली में बिहार के कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास (Bhakt Charan Das) को लेकर कमेंट किया। उन्होंने कांग्रेस प्रभारी को 'भकचोन्हर' दास कहा, जिस पर बिहार कांग्रेस के कई नेताओं ने पलटवार करते हुए आरजेडी को चेतावनी तक दे दी।

इसके बाद लालू जब पटना पहुंचे तो उनके बड़े बेटे तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) का बगावती तेवर सामने आया। वो धरने पर बैठ गए, फिर आरजेडी मुखिया खुद नाराज बेटे से मिलने पहुंचे तो बेटे ने उनके पैर धुले और फिर अपना धरना खत्म किया। कुल मिलाकर लालू की पटना (Lalu Yadav In Patna) वापसी में एक्शन-इमोशन सबकुछ नजर आया। आखिर कैसे हुआ ये सियासी घटनाक्रम बताते हैं आगे...



एयरपोर्ट पर लालू को लेने पहुंचे दोनों बेटे, फिर क्यों नाराज हो गए तेजप्रताप
एयरपोर्ट पर लालू को लेने पहुंचे दोनों बेटे, फिर क्यों नाराज हो गए तेजप्रताप

लालू यादव जब रविवार को बिहार लौटे तो दोनों बेटे तेजप्रताप और तेजस्वी उन्हें लेने के लिए खुद एयरपोर्ट पहुंचे। हालांकि, इसके बाद तेजप्रताप जब राबड़ी देवी के 10 सर्कुलर रोड आवास पहुंचे तो उनकी एंट्री नहीं होने के बाद सारा ड्रामा शुरू हुआ। लालू यादव का काफिला राबड़ी आवास में गया। तेजप्रताप यादव जब आवास में एंट्री की कोशिश कर रहे थे तो उन्हें नहीं जाने दिया गया। इसके बाद उन्होंने आरोप लगाया कि जगदानंद सिंह, संजय यादव जैसे नेताओं ने उन्हें आवास में प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी। उन्होंने कहा कि उनके पास आरएसएस की विचारधारा है और पहले भी वो लालू प्रसाद को बंदी बनाने के लिए जिम्मेदार रहे हैं।

इसे भी पढ़ें:- BJP की हेल्प से CM बनने वाले लालू यादव ने क्यों थामा कांग्रेस का हाथ, सोनिया गांधी से कितना पुराना है RJD चीफ का रिश्ता?



धरने पर बैठे बेटे तेजप्रताप को लालू ने ऐसे मनाया
धरने पर बैठे बेटे तेजप्रताप को लालू ने ऐसे मनाया

इसके बाद तेजप्रताप यादव सीधे अपने सरकारी आवास पर गए और लालू प्रसाद और राबड़ी देवी के आने तक धरने पर बैठे रहे। रात में फिर लालू और राबड़ी उनसे मिलने पहुंचे और करीब 10 मिनट रुके। इस दौरान तेजप्रताप ने गाड़ी में बैठे पिता लालू का पैर धोया। फिर आरजेडी मुखिया वापस राबड़ी आवास लौट गए। इसके बाद तेजप्रताप ने अपना धरना खत्म किया। साथ ही उन्होंने कहा, 'उनके आवास पर आरजेडी सुप्रीमो के आने से मैंने आधी लड़ाई जीत ली है। यह उन लोगों के लिए एक जोरदार थप्पड़ है जिन्होंने दिल्ली में लालू प्रसाद को बंदी बनाया था। मैं आरजेडी से तब तक दूर रहूंगा जब तक जगदानंद सिंह जैसे नेता पार्टी से बाहर नहीं निकलेंगे।'



भक्त चरण दास को जब लालू ने कहा- 'भकचोन्हर' दास
भक्त चरण दास को जब लालू ने कहा- 'भकचोन्हर' दास

पटना आने से पहले लालू यादव ने दिल्ली में कांग्रेस-आरजेडी गठबंधन पर टिप्पणी की। आरजेडी मुखिया ने कहा, 'क्या होता है कांग्रेस का गठबंधन, हारने के लिए उसको सीटें दे देते हम। जमानत जब्त कराने के लिए।' इसी बीच उन्होंने बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्तचरण दास पर एक कमेंट किया, जिसको लेकर सियासत गरमा गई। दरअसल, पत्रकारों ने कहा कि कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि आरजेडी ने पर्दे के पीछे बीजेपी से समझौता कर लिया है? लालू यादव ने पूछा किसने कहा तो पत्रकारों ने कहा- भक्त चरण दास ने। इसी पर लालू यादव ने कहा, 'ऊ तो भक चोन्हर दास है, उ का बोलेगा।'



कांग्रेस का लालू पर पलटवार, जानिए क्या कहा
कांग्रेस का लालू पर पलटवार, जानिए क्या कहा

कांग्रेस ने भी लालू के इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी। कांग्रेस प्रवक्ता राजेश राठौर ने लालू पर हमला बोलते हुए कहा कि लालू ने भक्त चरण दास के लिए अपशब्दों का प्रयोग कर एक दलित नेता का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि 'लालू यादव ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को सीट इसलिए नहीं दी क्योंकि वो अपनी जमानत नहीं बचा पाते। तो मैं बताना चाहता हूं कि जब हम 6 हजार वोटों से कुशेस्वरस्थान हारे हैं तो हम अपनी जमानत नहीं बचा पाते। लेकिन आरजेडी 15 हजार वोटों से तारापुर हारी है तो वो अपनी जमानत कैसे बचा पाती।'





from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://navbharattimes.indiatimes.com/state/bihar/patna/lalu-yadav-returns-patna-tej-pratap-dharna-tejashwi-yadav-congress-rjd-coalation-update-bihar-bypolls-update/articleshow/87251665.cms
https://navbharattimes.indiatimes.com/photo/%2087251665/photo-87251665.jpg

No comments