Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

West Bengal election result-2021

West Bengal election result-2021

राजस्थान में फिर धूजी धरती, जालोर, सिरोही, जोधपुर, पाली में भूंकप

जयपुर राजस्थान में जहां एक ओर सर्दी का असर तेज होता जा रहा है। वहीं इसी बीच प्रदेश में एक बार फिर भूंकप के झटके ने लोगों को हिला दिया है। ...

जयपुरराजस्थान में जहां एक ओर सर्दी का असर तेज होता जा रहा है। वहीं इसी बीच प्रदेश में एक बार फिर भूंकप के झटके ने लोगों को हिला दिया है। प्रदेश में शुक्रवार को बारिश के बाद मौसम में हुए बदलाव के साथ देर रात कई जिलों में भूकंप आने की पुष्टि भी हुई है। मिली जानकारी के अनुसार राजस्थान के जालोर जिले में देर रात 2:26 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 4.6 बताई जा रही है। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी ने भूकंप की पुष्टि की है। हालांकि यबह बताया जा रहा है कि जिन जिलों में भूंकप आया, वहां किसी भी तरह के जान माल का नुकसान नहीं हुआ है। इन जिलों में आया भूंकपमिली जानकारी के अनुसार प्रदेश के जोधपुर, पाली, सिरोही और जालोर जिले में भूकम्प के झटके महसूस किए गए। यहां कई इलाकों में लोगों ने हल्के भूकम्प महसूस किया। बताया जा रहा है कि रात 2 बजकर 28 मिनट आए भूकम्प के बाद आशंकित लोग घरों से बाहर निकल गए। वहीं एक दूसरे से पुष्टि करने लगे। इधर नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी के अनुसार जालोर में आए भूकंप की तीव्रता 4.6 रही। पहले भी सिरोही- पाली जैसे जिलों में आया था भूंकप जानकारी के अनुसार सिरोही में लगातार तीन दिनों से भूंकप के जरिए धरती में कंपन की खबर मिल रही है। वहीं पाली में भी गुरुवार को भूकंप की पुष्टि हुई थी। गांधीनगर स्थित भूकंप विज्ञान अनुसंधान संस्थान (आईएसआर) ने इसकी पुष्टि की थी। संस्थान के अनुसार गुजरात के बनासकांठा जिले के साथ लगती राजस्थान की सीमा पर 4.1 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। इसमें बताया गया कि भूकंप का केंद्र राजस्थान के पाली जिले के सुमेरपुर के समीप 10 किलोमीटर की गहराई में था। भूकंप शाम करीब सात बजकर 25 मिनट पर आया था। क्यों आता है भूकंप?पृथ्वी के अंदर 7 प्लेट्स हैं, जो लगातार घूमती रहती हैं. जहां ये प्लेट्स ज्यादा टकराती हैं, वह जोन फॉल्ट लाइन कहलाता है. बार-बार टकराने से प्लेट्स के कोने मुड़ते हैं. जब ज्यादा दबाव बनता है तो प्लेट्स टूटने लगती हैं. नीचे की ऊर्जा बाहर आने का रास्ता खोजती हैं और डिस्टर्बेंस के बाद भूकंप आता है.


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3qT8lJW
https://ift.tt/3CCbnV0

No comments