Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

West Bengal election result-2021

West Bengal election result-2021

मणिपुर में सुबह-सुबह जोर से हिली धरती, अंडमान में भी लगे भूकंप के झटके

मणिपुर भारत में एक बार फिर भूकंप से धरती हिल गई। सोमवार की सुबह नॉर्थ ईस्ट में भूकंप के झटके महसूस किए गए। मणिपुर और अंडमान-निकोबार में आ...

मणिपुर भारत में एक बार फिर भूकंप से धरती हिल गई। सोमवार की सुबह नॉर्थ ईस्ट में भूकंप के झटके महसूस किए गए। मणिपुर और अंडमान-निकोबार में आए भूकंप की तीव्रता 4.4 और 4.3 रही। अंडमान-निकोबार द्वीप समूह के पोर्ट ब्लेयर के 218 किलोमीटर दक्षिण पूर्व में भूकंप के झटके महसूस किए गए। सुबह 05:28 बजे आए भूकंप की तीव्रता 4.3 रही। हालांकि इस भूकंप से किसी भी तरह के जानमाल के नुकसान की सूचना नहीं है। उखरूल में आया भूकंप वहीं रिक्टर स्केल पर 4.4 की तीव्रता वाला भूकंप मणिपुर के उखरूल में आया। यहां पर भूकंप का केंद्र 56 किमी ईएसई में दर्ज किया गया। भूकंप सुबह 7:48 बजे आया। भूकंप आने पर क्या करें क्या न करें भूकंप ऐसी प्राकृतिक आपदा है जिसका अंदाजा लगा पाने में हम सक्षम नहीं हैं। कब, कहां धरती अचानक डोलने लगेगी, यह बता पाना वैज्ञानिकों के लिए बड़ा मुश्किल है। आपदा वैसे तो संभलने का मौका नहीं देती लेकिन थोड़ा चौकन्ना रहकर आप जिंदगी बचाने की कोशिश जरूर कर सकते हैं। जानिए भूकंप जैसी स्थिति से निपटने के लिए आप कैसे तैयार रह सकते हैं। - भूकंप के झटके जैसे ही महसूस हों तुरंत बिना देर किए घर, ऑफिस से निकल खुली जगह पर निकल जाएं। बड़ी बिल्डिंग्स, पेड़ों, बिजली के खंभों आदि से दूर रहें। - बाहर जाने के लिए लिफ्ट का इस्तेमाल कतई न करें। सीढ़ियों से ही नीचे पहुंचने की कोशिश करें। - अगर आप किसी ऐसी जगह हैं जहां बाहर जाने का कोई फायदा नहीं है तो सही यह होगा कि अपने आस-पास ही ऐसी जगह खोजें जिसके नीचे छिप कर खुद को बचाया जा सके। ध्यान रखें भूकंप के समय भागे नहीं इससे नुकसान की संभावना ज्यादा हो - भूकंप आने पर खिड़की, अलमारी, पंखे, ऊपर रखे भारी सामान से दूर रहें ताकि इनके गिरने और शीशे टूटने से चोट न लगे। - टेबल, बेड, डेस्क जैसे मजबूत फर्नीचर के नीचे घुस जाएं और उसके लेग्स कसकर पकड़ लें ताकि झटकों से वह खिसके नहीं। - कोई मजबूत चीज न हो, तो किसी मजबूत दीवार से सटकर शरीर के नाजुक हिस्से जैसे सिर, हाथ आदि को मोटी किताब या किसी मजबूत चीज़ से ढककर घुटने के बल टेक लगाकर बैठ जाएं। - खुलते-बंद होते दरवाजे के पास खड़े न हों, वरना चोट लग सकती है। - गाड़ी में हैं तो बिल्डिंग, होर्डिंग्स, खंभों, फ्लाईओवर, पुल आदि से दूर सड़क के किनारे या खुले मैदान में गाड़ी रोक लें और भूकंप रुकने तक इंतजार करें।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3H3pnur
https://ift.tt/3bMD9n3

No comments