Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

West Bengal election result-2021

West Bengal election result-2021

Madhubani News : इंसाफ के मंदिर में वर्दी वाला गुंडा, मतलब बिहार में लॉ एंड ऑर्डर नाम की कोई चीज है भी या सिर्फ नाम भर का सुशासन है?

पटना/मधुबनी बिहार में जज के चैम्बर में पुलिसिया तांडव, जज पर पिस्टल तानी और पीट डाला... इंसाफ के मंदिर में वर्दी वाले गुंडे, मतलब बिहार म...

पटना/मधुबनी बिहार में जज के चैम्बर में पुलिसिया तांडव, जज पर पिस्टल तानी और पीट डाला... इंसाफ के मंदिर में वर्दी वाले गुंडे, मतलब बिहार में लॉ एंड ऑर्डर नाम की कोई चीज है भी या सिर्फ नाम भर का सुशासन है? वहीं इस सनसनीखेज वारदात के बाद अब पटना हाईकोर्ट ने डीजीपी एसके सिंघल को तलब कर लिया है। इंसाफ के मंदिर में वर्दी वाले गुंडे गुरुवार को मधुबनी सिविल कोर्ट में जो कुछ भी हुआ उसने नीतीश के सुशासन पर ऐसा दाग लगाया है जो शायद ही कभी मिट पाए। सरेआम जज के चैम्बर में दो पुलिसवाले घुसते हैं जिसमें एक तो बकायदा थानेदार तक था। इसके बाद जज के साथ गाली-गलौच, पिस्टल तानना... कोर्ट में तो कुछ देर के लिए ऐसा लगा कि मानों यहां मार्शल लॉ जैसे हालात हैं। दो पुलिसवालों की इस करतूत के बाद कोर्ट के वकीलों तक में जबरदस्त आक्रोश है। पुलिसवाले बोल रहे थे- 'तुमको हम एडीजे-फेडीजे नहीं मानते' : वकीलचश्मदीद अधिवक्ता के मुताबिक, पुलिस वाले एडीजे अविनाश कुमार को यहां तक कह रहे थे कि 'तुम्हारी हिम्मत कैसे हो गई कि तुम हमें बुलाते हो? तुम्हारा पावर सीज हो गया है। तुम बेवजह सबको परेशान करते रहते हो। तुमको हम एडीजे-फेडीजे नहीं मानते हैं।' अब खुद सोच लीजिए कि पुलिसवालों ने अदालत के जज के साथ क्या सलूक किया होगा वो भी कोर्ट में। वकील न दौड़े होते तो पता नहीं क्या होताबताया जा रहा है कि अगर हंगामे की आवाज सुनकर वकील न दौड़े होते तो पता नहीं क्या से क्या हो जाता। बताया जा रहा है कि चैम्बर से शोर की आवाज सुनकर वकील उधर दौड़े और जज साहब को थानेदार और दारोगा से मुक्त कराया। इसके बाद आक्रोशित वकीलों ने थानेदार और दारोगा को कोर्ट परिसर में ही बंधक बना लिया।अब इस घटना को लेकर विपक्षी RJD ने भी नीतीश सरकार पर हमला बोल दिया है। ये है पूरा मामला दरअसल, एडीजे प्रथम अविनाश कुमार ने एक मामले में घोघरडीहा थाना प्रभारी गोपाल कृष्ण यादव को कोर्ट में हाजिर होने के लिए कहा था। गुरुवार की दोपहर सवा दो बजे के करीब लंच टाइम हुआ था। जज साहब कोर्ट से उठकर अपने चैम्बर में चले गए थे। तभी घोघरडीहा थानाध्यक्ष गोपाल कृष्ण यादव और उनके साथ सब-इंस्पेक्टर अभिमन्यु कुमार सिंह जज साहब के चैम्बर में घुसे और गाली गलौच करते हुए मारपीट करने लगे। शोर सुनकर वकील चैम्बर की ओर दौड़े। गाली-गलौच करते हुए की एडीजे की पिटाईझंझारपुर कोर्ट के वरीय अधिवक्ता और बार एसोसिएशन के उपाध्यक्ष बलराम साहू और अरुण कुमार झा ने बताया कि जब वो लोग चैम्बर में पहुंचे तो देखा कि एडीजे प्रथम अविनाश कुमार पर सर्विस रिवॉल्वर तान रखी है। दो पुलिस वाले गाली-गलौज करते हुए उनके साथ मारपीट कर रहे हैं।दोनों पुलिस वालों की पहचान उनकी वर्दी पर लगी नेम प्लेट से हुई। इसमें एक एक घोघरडीहा थानाध्यक्ष गोपाल कृष्ण यादव और दूसरा सब-इंस्पेक्टर अभिमन्यु कुमार सिंह था।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3oBqyZC
https://ift.tt/30BRH6G

No comments