Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

दिग्विजय सिंह के गढ़ में घुसकर उनके करीबी को बीजेपी में ले गए ज्योतिरादित्य सिंधिया, कहा- अब बार-बार आऊंगा

गुना केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia News) इन दिनों एमपी में एक्टिव हैं। कांग्रेस के दिग्गज नेता ...

गुना केंद्रीय नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia News) इन दिनों एमपी में एक्टिव हैं। कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह के गढ़ में उन्हें सिंधिया ने जोरदार झटका दिया है। राघोगढ़ में दिग्विजय सिंह के करीबी नेता के साथ उनके पांच हजार समर्थकों ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की है। इस दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जमकर कांग्रेस नेताओं पर हमला किया है। ज्योतिरादित्य सिंधिया की मौजूदगी में कांग्रेस के पूर्व विधायक मूल सिंह दादा भाई के पुत्र हीरेन्द्र प्रताप सिंह ने अपने समर्थकों के साथ बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की है। यह कांग्रेस के लिए राघोगढ़ में बड़ा झटका माना जा रहा है। दिग्विजय सिंह यहां के राजा है। उनका यह अभेद्य किला माना जाता है। मगर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उनके किले में घुसकर उन्हें चुनौती दी है। इस मौके पर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कुछ लोग हैं, जिनका काम हर अवसर में चुनौती ढूंढना है जबकि बीजेपी का काम चुनौतियों में अवसर ढूंढना है। केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने कहा कि उनकी सोच और विचारधारा बिल्कुल स्पष्ट है। उन्हें राजनीति से मोह नहीं है। सेवाभाव, प्रगति से उन्हें मोह है। विकास के साथ उन्हें ललक है। उन्होंने कहा कि अभी तक तो वह संकोच में राघोगढ़ नहीं आते थे, लेकिन अब बार-बार यहां आएंगे। उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि एक तरह हम हैं, जिनका कहना है कि प्राण जाएं पर वचन न जाएं। वहीं, एक पार्टी का कहना है कि वचन तो जाए पर प्राण न जाएं। केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार ज्योतिरादित्य सिंधिया राघोगढ़ पहुंचे थे। उन्होंने पहली बार दिग्विजय सिंह के गढ़ में इतना बड़ा कार्यक्रम किया था। इस दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उनका जगह-जगह पर भव्य स्वागत किया है। गौरतलब है कि कांग्रेस में रहने के दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया राघोगढ़ न के बराबर जाते थे। बीजेपी में शामिल होने के बाद भी वह राघोगढ़ कभी नहीं गए थे। शनिवार को पहली बार जब वहां गए तो देकर लौटे हैं। माना जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया अब एमपी की राजनीति में सीधे दिग्विजय सिंह से लोहा लेंगे।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3rzHdzU
https://ift.tt/3GgEv6u

No comments