Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

Vaishali News : वैशाली में तीन लोगों की संदिग्ध हालात में मौत से हड़कंप, घरवालों का जहरीली शराब के केस से इनकार

वैशाली जिले के तिसियाउता थाना क्षेत्र के अलग-अलग गांवों में शुक्रवार से रहस्यमय परिस्थितियों में तीन लोगों की मौत हो गयी। पुलिस ने मौतों ...

वैशाली जिले के तिसियाउता थाना क्षेत्र के अलग-अलग गांवों में शुक्रवार से रहस्यमय परिस्थितियों में तीन लोगों की मौत हो गयी। पुलिस ने मौतों के पीछे बीमारी, मुख्य रूप से दिल के दौरे को वजह बताया है लेकिन ग्रामीणों में इस बात की चर्चा है कि मृतकों ने शराब पी थी। वैशाली में तीन लोगों की संदिग्ध मौत मृतकों की पहचान गांव सुभंकरपुर टिकौली के अर्जुन झा (55), महती धर्मचंद के अरविंद सिंह (32) और पदमौल के मनोज कुमार सिंह (55) के रूप में हुई है। शुक्रवार को अर्जुन, शनिवार को अरविंद और रविवार की तड़के मनोज की मौत हुई। सूत्रों ने कहा कि कथित तौर पर नकली शराब पीने के बाद नंदू पटेल और नंदलाल महतो का इलाज किया गया। महुआ एसडीपीओ पूनम केसरी ने कहा कि इलाके में चिकित्सा टीमों को तैनात किया गया है। उनके मुताबिक टीम ये जानने के लिए सर्वेक्षण कर रही है कि क्या किसी को जहर के जहर का कोई लक्षण थे।' दो लोग घर में स्वस्थ पाए गए- SDPO एसडीपीओ पूनम केसरी के मुताबिक नंदू और नंदलाल दोनों अपने घरों में स्वस्थ पाए गए और उन्होंने नकली शराब के सेवन से किसी भी बीमारी से इनकार किया। तिसिऔता थाने के एसएचओ रवींद्र पाल ने रविवार सुबह कहा कि उन्हें मनोज की मौत के बारे में ही पता था, लेकिन एसडीपीओ ने शुक्रवार से अब तक तीन मौतों को स्वीकार किया है। एसएचओ पाल ने मनोज के परिवार वालों के हवाले से बताया कि उनका 'ऑक्सीजन लेवल' कम रहता था और वह दिल के मरीज भी थे। क्या कहना है पुलिस का रविवार सुबह जांच के लिए घटनास्थल का दौरा करने वाले थानेदार पाल ने कहा कि मनोज शनिवार की रात बीमार पड़ गए और महुआ के एक अस्पताल में ले जाते समय उनकी मौत हो गई। एसडीपीओ ने कहा कि मनोज के परिवार के सदस्यों ने उसे बताया कि उसे पहले भी दो बार दिल का दौरा पड़ा था। उन्होंने कहा कि उनके बड़े भाई के पंचायत चुनाव हारने के बाद से अरविंद डिप्रेशन में थे। SDPO ने परिवार के हवाले से कहा कि 'शनिवार को, उसे अत्यधिक पसीना आने लगा और वो बीमार पड़ गए। उनका बीपी बढ़ गया बाद में अस्पताल में उनकी मृत्यु हो गई। दूसरे मृतक के बारे में जानकारी दूसरा मृतक अर्जुन मूल रूप से मुजफ्फपुर का रहने वाला था, लेकिन शुभंकरपुर टिकौली के एक मठ में एक दोस्त विजय झा के साथ रहता था। उसके दोस्त विजय के मुताबिक वो मानसिक रूप से परेशान था। विजय ने पुलिस को बताया कि शुक्रवार रात खाना खाने के बाद वह अचानक उनके कमरे के गेट पर गिर पड़ा। विजय ने पुलिस को यह भी बताया कि अर्जुन अक्सर खुले में सोता था और शायद उसे सर्दी लग गई थी। केसरी ने कहा कि मृतक को उल्टी, जी मिचलाना या जहरीली शराब के मामले में कोई अन्य लक्षण नहीं थे। वहीं दो शवों का पहले ही अंतिम संस्कार कर दिया गया था। तीसरे शव को रविवार सुबह अंतिम संस्कार के लिए घाट ले जाया गया। पोस्टमॉर्टम नहीं किया जा सका क्योंकि उसके परिवार के सदस्यों ने इसका विरोध किया था।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/31BRAIs
https://ift.tt/3Gfw4IB

No comments