Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

दो मासूमों संग खुद जंगल में माओवादियों से मिलने पहुंची पत्नी, इंजीनियर की रिहाई की पूरी कहानी

रायपुर : बीते शुक्रवार को नक्सलियों ने छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले स्थित एक ब्रिज कंस्ट्रक्शन साइट से इंजीनियर अशोक पवार और मजदूर आनंद यादव...

रायपुर : बीते शुक्रवार को नक्सलियों ने छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले स्थित एक ब्रिज कंस्ट्रक्शन साइट से इंजीनियर अशोक पवार और मजदूर आनंद यादव का अपहरण () कर लिया था। पत्नी की गुहार के बाद नक्सलियों ने मंगलवार की रात इंजीनियर को रिहा कर () दिया है। यह रिहाई तब हुई है, जब इंजीनियर की पत्नी अपने दो मासूम बच्चों को लेकर जंगल में नक्सलियों से मिलने गई थी। पति की रिहाई की मांग कर रही थी। इसके साथ ही पत्नी ने एक वीडियो भी जारी किया था। उसमें कहा था कि अशोक की रिहाई के बाद हम सभी लोग अपने पैतृक घर एमपी चले जाएंगे। बस्तर रेंज के आईजी पी सुंदरराज ने कहा कि मंगलवार की रात दोनों बेदरे कैंप पहुंचे हैं। अभी उनकी हालत ठीक है। हमारी पहली प्राथमिकता है कि उन्हें मेडिकल सुविधा उपलब्ध करवाएं। उन्होंने कहा कि आगे की जानकारी बाद में शेयर करूंगा। आईजी ने यह भी कहा कि दोनों की रिहाई कैसे हुई है, इसकी जानकारी अभी तुरंत नहीं है। वहीं, इंजीनियर अशोक की रिहाई की खबर सुनकर सोनाली और उसके बच्चे खुशी से झूम उठे। अपहरण की खबर से एमपी स्थित उसके परिवार में मातम छाया हुआ था। दरअसल, नक्सलियों ने इंजीनियर और मजदूर को पांच दिन पहले अपहरण किया था। इस दौरान दोनों का कुछ पता नहीं चल पा रहा था। दोनों पीड़ित एमपी के रहने वाले हैं। अपहरण के बाद माओवादियों ने पूरी तरह से चुप्पी साध रखी थी। उनकी कोई डिमांड भी नहीं थी। ऐसी अटकलें थीं कि दोनों को सीमा पार महाराष्ट्र ले जाया गया होगा। सोनाली पवार और उनकी दो बेटियों ने पिछले शनिवार को माओवादियों से उन्हें रिहा करने के लिए एक वीडियो अपील जारी की थी। सोमवार को, सोनाली ने माओवादियों से मिलने और अशोक की रिहाई के लिए राजी करने को लेकर खुद जंगल जाने का फैसला किया। सूत्रों का कहना है कि उसने कुछ ग्रामीणों से मुलाकात की। साथ ही कहा कि एक बार जब वह रिहा हो जाएंगे तो वो मध्यप्रदेश में अपने मूल स्थान पर लौट जाएंगे। सोनाली ने कहा था कि मेरे पति निर्दोष हैं, वह बस वहां अपना काम कर रहे थे। अगर कोई गलतफहमी हो तो उसे माफ कर देना।


from Local News, लोकल न्यूज, Hindi Samachar, हिंदी समाचार, state news in hindi, राज्य समाचार , Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/egoxqEy
https://ift.tt/10awJps

No comments