Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

यूक्रेन में फंसे राजस्थान छात्रों की मदद के लिए कंट्रोल रूम शुरू, वाट्सएप हेल्पलाइन नम्बर भी जारी

रामस्वरूप लामरोड़, जयपुर: रूस द्वारा यूक्रेन पर हमला करने पर राजस्थान के सैकड़ों परिवार अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। राजस्थ...

रामस्वरूप लामरोड़, जयपुर: रूस द्वारा यूक्रेन पर हमला करने पर राजस्थान के सैकड़ों परिवार अपने बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। राजस्थान सरकार भी प्रदेश के छात्रों की सुरक्षा के लिए तमाम प्रयास करने में जुट गई है। राजस्थान फाउंडेशन के चैयरमेन धीरज श्रीवास्तव की निगरानी में जयपुर में एक कंट्रोल रूम की स्थापना की गई है। इस कंट्रोल के हेल्प लाइन नम्बर जारी किए गए हैं। 0141-2229091 और 0141-2229111 के साथ 8306009838 वाट्सअप हेल्प लाइन नम्बर भी जारी किए हैं। इन हेल्प नम्बर के जरिए यूक्रेन में फंसे राजस्थानी छात्रों से संपर्क किया जा रहा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने यूक्रेन दुतावास में की बात यूक्रेन में फंसे छात्रों की मदद के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत लगातार यूक्रेन में भारतीय दूतावास के संपर्क में हैं। गहलोत ने अधिकारियों से बात भी की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे इस संबंध में प्रधानमंत्री को भी पत्र लिख रहे हैं। कंट्रोल रूम पर यूक्रेन में फंसे करीब 250 छात्रों से संपर्क किया जा चुका है। इन छात्रों को एक वाट्सअप ग्रुप में जोड़ा गया है। छात्र अपनी परेशानी ग्रुप में शेयर कर रहे हैं और अधिकारी उनकी हर संभव मदद का प्रयास कर रहे हैं। गुरुवार सुबह हमला होने के बाद से रेलवे और हवाई सेवाएं बंद हो गई है। ऐसे में कई छात्र बीच रास्ते ही अटक गए हैं। सड़क मार्गों से निकालने के प्रयास तेज यूक्रेन में हवाई सेवाएं बंद होने के बाद अब सड़क मार्ग के जरिए छात्रों को दूसरे देशों में भेजे जाने के प्रयास तेज कर दिए गए हैं। राजस्थान फाउंडेशन के चैयरमेन धीरज श्रीवास्तव ने बताया कि पोलेंड और यूक्रेन के अन्य पड़ौसी देशों से संपर्क किया जा रहा है। पोलेंड और अन्य पड़ौसी देशों में रहने वाले भारतीय भी छात्रों की मदद के लिए आगे आए हैं। अब सड़क मार्ग के जरिए छात्रों को यूक्रेन से बाहर निकालने के प्रयास किए जा रहे हैं।


from Local News, लोकल न्यूज, Hindi Samachar, हिंदी समाचार, state news in hindi, राज्य समाचार , Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/QMC293e
https://ift.tt/tbwSZAz

No comments