Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

'माखन चोरी बाल लीला तो मिठाई चोरी अपराध कैसे', किशोर की दर्द भरी दास्तां सुन जज ने तुरंत दे दी रिहाई

प्रणय राज, नालंदा ननिहाल आए किशोर के विरुद्ध मिठाई और मोबाइल चोरी मामले में किशोर न्याय परिषद के प्रधान दंडाधिकारी मानवेंद्र मिश्र ने महज...

प्रणय राज, नालंदा ननिहाल आए किशोर के विरुद्ध मिठाई और मोबाइल चोरी मामले में किशोर न्याय परिषद के प्रधान दंडाधिकारी मानवेंद्र मिश्र ने महज 15 दिन में सुनवाई करते हुए किशोर को आरोपों से बरी कर दिया। किशोर की दर्द भरी दास्तां सुनकर जज ने न सिर्फ रिहाई दी, बल्कि आरा की जिला बाल संरक्षण इकाई को किशोर की उचित देखभाल का निर्देश दिया है। मिठाई चोरी पर जज ने कहा- "माखन चोरी बाल लीला तो मिठाई चोरी अपराध कैसे।" मामले की एफआईआर करने वाले हरनौत प्रखंड के चेरो थानाध्यक्ष को चेताते हुए कहा कि छोटे-मोटे अपराध में किशोर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने से बचें। उसे समाज की मुख्यधारा में लाने का प्रयास किया जाना चाहिए। वहीं उन्होंने केस दर्ज कराने वाली महिला को भी बच्चों के प्रति सहिष्णु व सहनशील बनने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि अगर उसका अपना बेटा मिठाई, मोबाइल या पैसे चुराता तो क्या पुलिस को सौंप देती या उसे समझाती। आरा जिले का रहने वाला है किशोर आरोपी किशोर भोजपुर जिले के आरा का रहने वाला है। घटना के समय ननिहाल हरनौत क्षेत्र के एक गांव आया हुआ था। गुरुवार को किशोर न्याय परिषद के प्रधान दंडाधिकारी मानवेंद्र मिश्र ने मामले की सुनवाई करते हुए किशोर से पूरे मामले पर पूछताछ की। इस दौरान किशोर काफी डरा और सहमा हुआ था। जब उसे समझाया गया तो वह फफक-फफक कर रोने लगा। रोते हुए अपने परिवार की स्थिति बयां की। किशोर ने पड़ोस की मामी के घर जाकर फ्रिज से मिठाई निकाल खा ली थीकिशोर के अधिवक्ता कंचन कुमार की मानें तो किशोर के पिता रोग ग्रस्त हैं। वहीं मां मानसिक रूप से विक्षिप्त है। परिवार में आमदनी का कोई साधन नहीं है। घटना के समय अपने ननिहाल में था। मामा और नाना की भी मौत हो चुकी है। घटना के समय वह काफी भूखा था। एक पड़ोस की मामी के घर चला गया। वहां भूख मिटाने के लिए फ्रीज में रखी मिठाई खा ली। बालपन के कारण फ्रीज पर रखा मोबाइल लेकर गेम खेलने लगा। कोर्ट ने सुनवाई के दौरान पाया कि शिकायत कर्ता ने मामले को बढ़ा-चढ़ाकर पुलिस के समक्ष पेश किया। जज ने की टिप्पणी जज मिश्रा ने टिप्पणी करते हुए कहा कि सनातन संस्कृति में भगवान श्री कृष्ण को दूसरों के घर से माखन चुराने और हांडी फोड़ने की बातें कही गई हैं। इसे हमारी संस्कृति ने भगवान श्री कृष्ण की बाल लीला बतायी। वहीं आज किशोर के भूख के कारण मिठाई चुराने को अपराध माना।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/39xaJMD
https://ift.tt/3zwMxV3

No comments