Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

मेट्रो रेल प्रोजेक्ट को लेकर तैयारी तेज, जमीन अधिग्रहण के लिए पटना प्रशासन ने जारी किया नोटिफिकेशन

पटना पटना में मेट्रो रेल प्रोजेक्ट को लेकर तैयारियां तेजी से आगे बढ़ रही हैं। जिला प्रशासन ने जमीन अधिग्रहण को लेकर नोटिफिकेशन जारी कर दि...

पटना पटना में मेट्रो रेल प्रोजेक्ट को लेकर तैयारियां तेजी से आगे बढ़ रही हैं। जिला प्रशासन ने जमीन अधिग्रहण को लेकर नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। जीरो माइल और पाटलिपुत्र अंतरराज्यीय बस टर्मिनल (ISBT) के बीच 76 एकड़ जमीन के अधिग्रहण की प्रक्रिया चल रही है। भूमि अधिग्रहण अधिनियम, 2013 की धारा 11 के तहत अधिसूचना जारी की गई है। फरवरी 2022 तक पूरी होगी जमीन अधिग्रहण की प्रक्रियाजानकारी के मुताबिक, रानीपुर और पहाड़ी इलाके में आईएसबीटी मेट्रो स्टेशन और रेल डिपो बनाने के लिए जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया फरवरी 2022 तक पूरी कर ली जाएगी। प्रदेश सरकार ने डिपो और आईएसबीटी मेट्रो स्टेशन के लिए जमीन अधिग्रहण के लिए जिला प्रशासन को करीब 1,000 करोड़ रुपये मंजूर किए हैं। अधिकारियों ने पूरे मामले में क्या कहाजिला भूमि अधिग्रहण अधिकारी प्रमोद कुमार ने रविवार को बताया कि भूमि अधिग्रहण के संबंध में कोई भी आपत्ति नोटिफिकेशन की तारीख से 60 दिनों के भीतर दर्ज की जा सकती है। जिसके बाद सुनवाई होगी और फिर अधिनियम की धारा 19 के तहत मुआवजे के तौर निर्धारित की जाने वाली राशि तय की जाएगी। जमीन मालिक को रेट के आधार पर मुआवजा दिया जाएगा। शहरी विकास और आवास विभाग (यूडीएचडी) के अधिकारियों ने कहा कि पाटलिपुत्र आईएसबीटी के पास भूमि अधिग्रहण के लिए सरकार ने कदम उठाना शुरू कर दिया है। पटना मेट्रो रेल नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली सरकार की एक महत्वाकांक्षी परियोजना है। केंद्र और राज्य इस परियोजना की लागत का 20-20 फीसदी खर्च उठाएंगे। 60 फीसदी राशि JICA (Japan International Corporation Agency) से लोन के रूप में ली जाएगी। जल्द शुरू हो जाएगा अंडरग्राउंड स्टेश और नेटवर्क का कामPMRC के एक अधिकारी ने कहा कि जेआईसीए से कर्ज मिलने के बाद भूमिगत स्टेशनों और नेटवर्क पर काम शुरू हो जाएगा। शुरुआत में सुरंगों का निर्माण, राजेंद्र नगर में भूमिगत रैंप और राजेंद्र नगर से आकाशवाणी (जो कॉरिडोर II का एक हिस्सा है) तक छह भूमिगत स्टेशनों का निर्माण शुरू होगा। मलही पकरी से आईएसबीटी तक कॉरिडोर II के 6.1 किमी ऊंचे खंड पर पहले से ही काम चल रहा है। इसमें पांच स्टेशन शामिल हैं - मलाही पकरी, खेमनीचक, भूतनाथ रोड, जीरो माइल और आईएसबीटी। इस खंड को प्राथमिकता गलियारे के रूप में भी जाना जाता है।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3CblJfr
https://ift.tt/2ZgIZtU

No comments