Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

West Bengal election result-2021

West Bengal election result-2021

Ujjain Gail Plant News : गेल बॉटलिंग प्लांट में हादसा, एलपीजी टैंक में गिरे दो मजदूर, रेस्क्यू में बड़ा खतरा

उज्जैन गेल के बॉटलिंग प्लांट ( News Update) में दो मजदूरों की मौत हो गई है। यह प्लांट उज्जैन के नजरपुर में स्थित है। यह शहर से करीब 100 क...

उज्जैन गेल के बॉटलिंग प्लांट ( News Update) में दो मजदूरों की मौत हो गई है। यह प्लांट उज्जैन के नजरपुर में स्थित है। यह शहर से करीब 100 किमी दूर है। घटना की गुरुवार की है। मजदूरों की मौत कैसे हुई, इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं है। वहीं, अधिकारी मौके पर पहुंचकर मामले की जांच कर रहे हैं। एक जानकारी अनुसार मजदूर की मौत 100 फीट लंबी और 12 फीट गहरे टैंक में गिरने से हुई है। दूसरी बात यह कही जा रही है कि मजदूरों की मौत दम घुटने से हुई है। मृतकों में लखन सिंह और राजेंद्र सिंह है। ये लोग गेल के कॉन्ट्रैक्टर के लिए काम करते थे। टैंक के एरिया के आसपास की सफाई करते थे। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि एक मजदूर फिसलकर टैंक में गिर गया, दूसरा उसे बचाने में अंदर चला गया। हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए एसडीएम गोविंद दुबे ने कहा कि हम बॉडी रिकवर करने की कोशिश कर रहे हैं। दोनों घाटिया के रहने वाले हैं और यहां कॉन्ट्रैक्ट पर काम करते थे। इस टैंक का इस्तेमाल एलपीजी टैंकर्स को खाली करने के लिए किया जाता है। गेल सूत्रों ने बताया कि रेस्क्यू ऑपरेशन एलपीजी के काफी ज्वलनशील होने की वजह से प्रभावित हो रहा है। हम लोग जिन उपकरणों का प्रयोग कर रहे हैं, वह मेटल के हैं और उनसे चिंगारी उत्पन्न होते रहता है, यह काफी भयानक हो सकता है। अधिकारियों ने कहा कि रेस्क्यू तभी हो सकता है, जब एलपीजी टैंक खुद से खाली हो जाए। अगर इसे खाली किया जाता है, यह वाष्प बनकर इलाके में फैल जाएगा जो काफी खतरनाक हो सकता है। वरीय अधिकारी, फायर ब्रिगेड और आपदा प्रबंधन विभाग की टीम मौके पर मौजूद है। सीसीटीवी वीडियो के जरिए अधिकारी जानने की कोशिश में हैं कि हादसा कैसे हुआ। वहीं, गेल प्लांट के बाहर बड़ी संख्या में ग्रामीण जमा हो गए हैं। साथ ही जानना चाह रहे हैं कि शव कब तक निकलेगा। किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए बाहर में पुलिस बल की तैनाती की गई है। उज्जैन एसपी सत्येंद्र शुक्ला ने कहा कि गेल के टेक्निकल टीम को विजयपुर (गुना में) और गोधरा (गुजरात) से बुलाया गया है। उन्होंने कहा कि एलपीजी एरिया में रेस्क्यू बहुत खतरनाक है, इसके लिए टेक्निकल एक्सपर्ट की जरूरत है।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3lI8Fs8
https://ift.tt/2YRGzBr

No comments