Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

60 साल की वृद्धा के साथ दुष्कर्म-हत्या के आरोपी को फांसी की सजा, हनुमानगढ़ में पहली बार ऐसा फैसला

हनुमानगढ़ Court verdict in Hanumangarh : प्रदेश के हनुमानगढ़ जिले में पीलीबंगा थाना क्षेत्र के गांव दुलमाना में 60 वर्षीय वृद्ध महिला की ...

हनुमानगढ़ Court verdict in Hanumangarh : प्रदेश के हनुमानगढ़ जिले में पीलीबंगा थाना क्षेत्र के गांव दुलमाना में 60 वर्षीय वृद्ध महिला की दुष्कर्म करने के बाद गला दबाकर हत्या कर देने के आरोपी को कोर्ट ने कठोर सजा दी है। 19 वर्षीय एक युवक को हनुमानगढ़ के जिला सेशन न्यायाधीश संजीव मागो ने फांसी की सजा सुनाई है। जानकारों की मानें तो पिछले कई वर्षो में सम्भवतय फांसी का पहला मामला है। पुलिस ने इस घटना को बेहद गंभीरता से लिया। इस मामले को केस ऑफिसर स्कीम में शामिल कर 7 दिन में ही आरोपी के खिलाफ अदालत में चालान पेश कर दिया। अदालत ने घटना के 74 वें दिन आरोपी को फांसी पर लटकाए जाने की सजा सुना दी। न्यायाधीश संजीव मांगो ने कहा कि यह कृत्य अमानवीय प्रकृति का है । कोर्ट ने कहा कि ऐसे व्यक्ति सभ्य समाज के लिए गंभीर खतरा हैं तथा ऐसे व्यक्ति समाज में रहने के लायक नहीं होते। क्या है मामलाहनुमानगढ़ की पुलिस अधीक्षक प्रीति जैन ने बताया कि पीलीबंगा थाना क्षेत्र के गांव दुलमाना में 15-16 सितंबर की रात को घर में अकेली रहने वाली 60 वर्षीय एक बुजुर्ग महिला की युवक सुंदर उर्फ मांडिया मेघवाल (19) ने रात्रि के समय घर में घुसकर जबरन दुष्कर्म किया । इसके बाद फिर पकड़े जाने के भय से गला दबाकर हत्या कर दी। घटना का पता चलने पर तुरंत ही मामला दर्ज किया गया। पुलिस ने वैज्ञानिक दृष्टिकोण के साथ की इंवेस्टिगेशनपुलिस ने पूरे घटनाक्रम की वैज्ञानिक दृष्टिकोण से त्वरित गति से छानबीन की गई। एमओबी और फॉरेंसिक की टीमों ने सारे वैज्ञानिक और आधुनिक तरीके से साक्ष्य जुटाए। एफएसएल को भेज कुछ नमूनों की रिपोर्ट भी जल्द से जल्द प्राप्त की गई। साक्ष्य जुटाने और रिपोर्ट प्राप्त होने पर आरोपी सुरेंद्र को गिरफ्तार कर लिया गया। सात दिन में ही उसके विरूद्ध सक्षम न्यायालय में चालान पेश कर दिया गया। महिला के डांटने पर की थी पहली मारपीट पुलिस अधीक्षक ने बताया कि जिला सेशन न्यायाधीश संजीव मांगो ने आरोपी सुरेंद्र मांडिया को दुष्कर्म और कत्ल का दोषी ठहराते हुए फांसी की सजा सुनाई। जानकारी के अनुसार आरोपी की कम आयु की दलील को नकारते हुए एक वृद्धा से दुष्कर्म करने और फिर हत्या करने की घटना को अदालत ने भी बहुत ही गंभीर और विरलतम माना। घटना के मुताबिक 15 सितंबर की रात को यह युवक अपने मोहल्ले में अकेले रहने वाली बुजुर्ग महिला के घर चला गया था। बेवक्त घर आने पर महिला ने डांटा तो सुरेंद्र मारपीट कर चला गया। महिला ने अपने पड़ोस के एक परिवार में जाकर सुरेंद्र द्वारा मारपीट करके चले जाने के बारे में बताया। इस परिवार ने कहा कि सुरेंद्र को सुबह बुलाकर समझाया जाएगा। महिला घर वापस आ गई। लगभग मध्य रात्रि को सुरेंद्र दोबारा घर में आया और दुष्कर्म करने के बाद महिला की हत्या कर फरार हो गया। पुलिस टीम की सतर्कता से जल्द से जल्द चालान हुआ पेश पीलीबंगा थाना इंद्र कुमार और उनकी टीम में शामिल एएसआई राधेश्याम, सिपाही सन्नी, रमेश, लक्ष्मण, बंसीलाल,चंद्रविजय, मांगीलाल आदि ने इस मामले में बड़ी तत्परता से तमाम साक्ष्य जुटाए। आरोपी के खिलाफ जल्द से जल्द चालान पेश करने में पुलिस ने बड़ी सक्रियता और कुशलता दिखाई।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3lkEp65
https://ift.tt/3xDEruo

No comments