Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

West Bengal election result-2021

West Bengal election result-2021

वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में चयन पर बवाल, कोटा की बॉक्सर अरुंधति ने लवलीना को दी सीधी चुनौती

अर्जुन अरविंद, कोटा राजस्थान की बॉक्सर अरुंधति चौधरी ने अगले महीने होने जा रही के लिए चयन को लेकर बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया पर गंभीर सवाल...

अर्जुन अरविंद, कोटा राजस्थान की बॉक्सर अरुंधति चौधरी ने अगले महीने होने जा रही के लिए चयन को लेकर बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया पर गंभीर सवाल उठाए हैं। ओलंपिक की ब्रॉन्ज मेडल विजेता खिलाड़ी लवलीना का टर्की चैंपियनशिप के लिए चयन किया गया है। बिना ट्रायल हुए इस चयन को लेकर अरुंधति ने फेडरेशन के साथ लवलीना को भी कटघरे में खड़ा किया है। 4 से 19 दिसंबर तक सीनियर कैटगरी की वर्ल्ड बॉक्सिंग महिला चैम्पियनशिप टर्की के इस्ताबुल में होने जा रही है। बिना ट्रायल चयन पर सवाल, फैसला वापस नहीं तो कोर्ट में चुनौती कोटा की बेटी और यूथ बॉक्सिंग की वर्ल्ड चैम्पियन अरुंधति चौधरी ने फेडरेशन पर सीधा आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि फेडरेशन ने टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज मैडल विजेता लवलीना का 70 किलोग्राम भार वर्ग चैंपियनशिप के लिए चयन बिना कोई ट्रायल के कर दिया। बॉक्सर लवलीना के इस चयन पर अरुंधति ने फेडरेशन और लवलीना को रिंग से लेकर कोर्ट तक की चुनौती और चेतावनी दे दी है। ट्रायल में हमेशा दी मात, लेकिन फिर भी उसी का चयन बॉक्सर अरुंधति ने कोटा में प्रेसवार्ता बुलाकर कहा, वह हर तरह से टर्की इस्ताबुल की चैंपियनशिप में भाग लेने के काबिल है। जिस ओलंपिक मेडलिस्ट को बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से चुनी गई। वह उस मेडलिस्ट को ट्रायल के दौरान हमेशा मात देती आईं हैं। अरुंधति का कहना है, हालांकि 2019 में जिस समय ओलंपिक के लिए ट्रायल ली गई। उस समय यूथ वर्ग में होने की वजह से मुझे इस ओलंपिक की ट्रायल में भाग लेने का मौका नहीं मिल पाया था। लेकिन अब में सीनियर वर्ग में आ चुकी हूं और हाल ही में हिसार में आयोजित सीनियर नेशनल चैंपियनशिप में भी गोल्ड मैडल जीत चुकी हूं। लगातार 7 बार जीत पदक, बेस्ट बॉक्सर का खिताब भी अरुंधति ने बताया कि उसने लगातार 7 बार अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में खेलते हुए 6 गोल्ड और 1 सिल्वर पदक जीते हैं। एशिया की बेस्ट बॉक्सर और भारत की बेस्ट बॉक्सर का खिताब भी जीत चुकी हूं। इसके बावजूद बिना ट्रायल के लवलीना को वर्ल्ड चैपियनशिप में भाग लेने देने का बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया का फैसला मेरे लिए ही नहीं भारत के उन सभी खिलाड़ियों के लिए गलत है जो भारत का तिरंगा विश्व में फहराने के लिए जी जान से मेहनत कर रहे है। ट्रायल से क्यों डर रहा फेडरेशन? अरुंधति ने कहा कि यदि फेडरेशन को लवलीना में उससे ज्यादा काबिलियत नजर आ रही हैं तो वह लवलीना की ट्रायल कराने से क्यों डर रहा है। ट्रायल के आधार पर दोनों में से जो भी बेस्ट नजर आए भारत का प्रतिनिधित्व करने का मौका उसे ही मिलना चाहिए। अरुंधति ने फेडरेशन ऑफ इंडिया को चेतावनी भी दी कि यदि बिना ट्रायल के लवलीना को चैंपियनशिप के लिए चुनने के फेडरेशन के फैसले को वापस नहीं लिया, तो वह हाईकोर्ट में जाएगी। ऐसे में अरुंधति रिंग से लेकर कोर्ट तक फेडरेशन और लवलीना को चैलेंज दे चुकी। साथ ही ओलंपिक ब्रॉन्ज मैडल विजेता लवलीना इस चयन से विवादों में आ गई।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/301f0a7
https://ift.tt/3kdsUMU

No comments