Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

गए थे रोशनी बढ़ाने...लापरवाही ने आंख ही छीन ली, मुजफ्फरपुर में चौंकाने वाले मामले से हड़कंप

संदीप कुमार, मुजफ्फरपुर बिहार के मुजफ्फरपुर में लापरवाही के चलते कई लोगों के आंख की रोशनी चली गई। ये चौंकाने वाला मामला तब सामने आया, जब ...

संदीप कुमार, मुजफ्फरपुर बिहार के मुजफ्फरपुर में लापरवाही के चलते कई लोगों के आंख की रोशनी चली गई। ये चौंकाने वाला मामला तब सामने आया, जब आंख के एक अस्पताल में फ्री मोतियाबिंद के ऑपरेशन कैंप (Muzaffarpur Motiabind Operation Camp) रखा गया। यहां ऑपरेशन कराने गए कई लोगों को बाद में परेशानी हुई, जिसके बाद उन्हें जांच के लिए पटना भेज दिया गया। इसी बीच 26 से ज्यादा मरीजों आंखों की रोशनी जाने का मामला सामने आया है। जिसको लेकर हड़कंप मच गया है, इस संबंध में सिविल सर्जन ने तुरंत कदम उठाते हुए जांच का आदेश दिया है। मुजफ्फरपुर आई हॉस्पिटल में सामने आया चौंकाने वाला मामलापूरा मामला मुजफ्फरपुर आई हॉस्पिटल () से जुड़ा है, जहां फ्री मोतियाबिंद ऑपरेशन कैंप रखा गया था। जिसमें 300 से अधिक मरीजों की आंखों का इलाज हुआ। बताया जा रहा कि इनमें 26 से अधिक की एक आंख की रोशनी चली गई है। यही नहीं ऑपरेशन कराने वाले कई मरीजों ने कहा कि डॉक्टरों ने उनकी आंख निकालने के लिए कहा है, नहीं तो दूसरी आंख में इन्फेक्शन का खतरा बढ़ सकता है। जानिए पीड़ित मरीजों ने क्या कहामुजफ्फरपुर आई हॉस्पिटल में ऑपरेशन कराने वाले एक मरीज ने बताया कि '22 तारीख (सोमवार) को हमने मोतियाबिंद का ऑपरेशन कराया था। ऑपरेशन के 4 घंटे बाद दर्द शुरू हुआ तो दवा लिए लेकिन आराम नहीं मिला। फिर इंजेक्शन लगवाए तो थोड़ा राहत हुआ। हालांकि, दर्द खत्म नहीं हुआ। फिर चश्मा और दवा दिया गया लेकिन आराम नहीं मिला तो हमें पटना भेजा गया। अब अस्पताल प्रशासन कह रहा कि आंख निकलवा दीजिए क्योंकि इन्फेक्शन ज्यादा फैल गया है।' 26 मरीजों की गई एक आंख की रोशनीएक साथ 26 मरीजों की एक आंख की रोशनी चले जाने के मामले में परिजनों ने उग्र रूप अख्तियार कर लिया। जिसके बाद अस्पताल प्रबंधन ने सभी को आनन-फानन में बेहतर इलाज के लिए पटना भेज दिया। पीड़ित मरीजों के मुताबिक, स्पेशलिस्ट डॉक्टरों ने इंफेक्शन की बात बताते आंख निकलवाने की बात कही। मुजफ्फरपुर सिविल सर्जन ने कही जांच की बातअभी 26 में से 4 रोगियों की एक आंख निकाल दी गई है। बाकी मरीजों के लिए भी यही आखिरी इलाज बताया गया है। इस बात को लेकर परिजनों में नाराजगी है। पूरे मामले को लेकर हंगामा बढ़ा तो सिविल सर्जन ने जांच की बात कही है। उन्होंने तुरंत ही इस मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। अब देखना होगा कि रोशनी की तलाश में गए लोगों के आंख गंवाने के इस चौंकाने वाले मामले में क्या कार्रवाई होती है।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3llbCy7
https://ift.tt/2ZDj0x7

No comments