Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

West Bengal election result-2021

West Bengal election result-2021

Omicron BA.2 In Indore : ओमिक्रोन के नए वेरिएंट BA.2 ने इंदौर में दी दस्तक, 16 संक्रमित, इनमें छह बच्चे

इंदौर : एमपी में कोरोना संक्रमण (madhya pradesh coronavirus news) के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। रविवार को प्रदेश में 11253 मरीज मिले ...

इंदौर : एमपी में कोरोना संक्रमण (madhya pradesh coronavirus news) के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। रविवार को प्रदेश में 11253 मरीज मिले हैं, साथ ही 24 घंटे में आठ लोगों की मौत हुई है। इंदौर में ओमिक्रोन के नए वैरिएंट बीए.2 ने () दस्तक दे दी है। शहर में ओमिक्रोन बीए.2 से 16 लोग संक्रमित () हैं। इनमें छह बच्चे भी शामिल हैं। हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए सैम्स अस्पताल के चेयरमैन डॉ विनोद भंडारी के मुताबिक नए वेरिएंट ओमीक्रोन BA.2 से संक्रमित चार मरीज ऐसे हैं जिनके फेफड़ों पर 15-40 फीसदी तक असर पड़ा है और इनमें एक बच्चा भी () शामिल है। बड़ी बात ये भी है कि बाकी तीनों लोगों को कोरोनारोधी टीके की दोनों डोज लग चुकी थी। उन्होंने कहा है कि फेफड़ों पर असर चिंता की बात है। वहीं, सबसे रोचक बात यह है कि इनमें से 13 लोगों ने बूस्टर डोज लगवाई है, तो उनके फेफड़ों पर एक से पांच फीसदी तक का असर है, जो काफी महत्वपूर्ण है। डॉक्टर भंडारी ने कहा कि मैं उन सभी लोगों से अपील करता हूं कि बूस्टर डोज प्राथमिकता के आधार पर लें। वहीं, डॉक्टर और एक्सपर्ट्स का इसे लेकर अलग-अलग राय है। कुछ लोग कहते हैं कि यह गंभीर लक्षण पैदा कर सकता है जबकि कुछ लोग कहते हैं कि ओमिक्रोन के मूल संस्करण और इसमें कोई ज्यादा महत्वपूर्ण अंतर नहीं है। वहीं, डॉक्टर भंडारी ने कहा कि जिले में ओमिक्रोन के नए वेरिएंट बीए.2 को 16 मरीज पाए गए हैं। रविवार को जिले में बीए.1 के तीन नए मामले सामने आए हैं। एमजीएम मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ संजय दीक्षित ने टीओआई से बात करते हुए कहा कि बीए.2 और बीए.1 ओमिक्रोन वेरिएंट के भाई बहन हैं। गंभीरता और संक्रामक प्रकृति में इनके बीच में कोई महत्वपूर्ण अंतर नहीं है। उन्होंने कहा कि 50 फीसदी से कम फेफड़ों पर असर बहुत गंभीर नहीं है। ओमिक्रोन बीए.2 वेरिएंट पर एमजीएमसीसी में छाती और टीबी विभाग के एचओडी डॉ सलिल भार्गव ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए कहा कि अगर किसी कोविड रोगी के फेफड़ों पर थोड़ा सा भी असर पड़ता है, तो उस पर कड़ी निगरानी की जरूरत है।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3GYPHWd
https://ift.tt/3KG0Xcf

No comments