Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

Ajmer News: देसी छोरे पर आया विदेशी मैम का दिल, पुष्कर में हिंदू रीति-रिवाज से लिए 7 फेरे

नवीन वैष्णव, अजमेर: कहते हैं कि सच्चा प्यार हो तो सात समंदर की सीमाएं भी उन्हें बांध नहीं पाती। ऐसा ही कुछ देखने को मिला अजमेर की तीर्थ न...

नवीन वैष्णव, अजमेर: कहते हैं कि सच्चा प्यार हो तो सात समंदर की सीमाएं भी उन्हें बांध नहीं पाती। ऐसा ही कुछ देखने को मिला अजमेर की तीर्थ नगरी पुष्कर (pushkar, ajmer) में। जहां जर्मनी की मेलिनी (german lady melanie) ने मूल रूप से मसूदा के रहने वाले सागर गुर्जर (sagar gurjar) से विवाह किया। विवाह में सभी रीति रिवाज निभाए गए और दूल्हा-दुल्हन ने सात फेरे लेकर साथ जीने मरने की कसमें भी खाई। जर्मनी की रहने वाली मेलिनी ने बताया कि सागर गुर्जर उसे देखते ही पहली बार में पसंद आ गया था इसके बाद वह लगभग 4 साल रिलेशनशिप में रहे और अब उन्होंने शादी कर लिए हिंदू रीति रिवाज से विवाह करके उसे काफी अच्छा महसूस हो रहा है। उसने कहा कि सागर से शादी करने से पहले उसने हिंदी भी सीखी। वह अब टूटी फूटी हिंदी भी बोलने लगी है। मसूदा निवासी सागर गुर्जर ने कहा कि वह घर वालों से झगड़ा करके पढ़ने के लिए जर्मनी गया था वहां उसने एमबीए किया इसी दौरान एक फंक्शन में मेलिनी से मुलाकात हुई इसके बाद से वह काफी करीब आ गए। उसने मेलिनी के परिवार से भी मुलाकात की सभी खुले विचारों के हैं। उसने मेलिनी के परिजन से अपने माता पिता की वीडियो कॉल पर भी बात कराई। रिलेशनशिप को अब तक 4 साल हो चुके हैं दिसंबर माह में उन्होंने हिंदू रीति-रिवाज से विवाह करने की सोची और अब तीर्थ नगरी पुष्कर में सभी रीति-रिवाज के साथ उनका विवाह संपन्न होने जा रहा है । दोनों को बेहद खुशी है। विदेशी दुल्हन के विवाह में शामिल होने के लिए ग्रामीण परिवेश के कई लोग पहुंचे तो वही जर्मन से भी शादी में शामिल होने के लिए विदेशी यहां आए थे । सभी ने इस शादी का लुत्फ उठाया।


from Local News, लोकल न्यूज, Hindi Samachar, हिंदी समाचार, state news in hindi, राज्य समाचार , Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/RQtoYHi
https://ift.tt/v5y7Ysb

No comments