Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

गहलोत ने विधानसभा में पानी पी पी कर कोसा बीजेपी को, कहा- इनका मकसद बदनाम करना

रामस्वरूप लामरोड़, जयपुर: राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के बाद जवाब देने के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सदन में भारतीय जनता पार्टी के ...

रामस्वरूप लामरोड़, जयपुर: राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के बाद जवाब देने के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सदन में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को जमकर कोसा। उन्होंने कहा कि भाजपा नहीं चाहती कि बेरोजगारों को समय पर रोजगार मिले। उन्होंने कहा कि इनका मकसद है कि नॉन इश्यू को इश्यू बनाओ और जनता की निगाह में सरकार को बदनाम करो। रीट के मामले पर भी राज्य सरकार को बदनाम करने का प्रयास कर रहे हैं। गहलोत ने कहा कि झूठे बदनाम करने में इनकी पार्टी के लोग माहिर हैं। यहां के नेताओं को पता ही नहीं क्या बोलना है। इन्हें तो बस ऊपर से निर्देश मिलते हैं और ये हंगामा शुरू कर देते हैं। इस बार इनके हाईकमान ने इन्हें गलत मुद्दा पकड़ा दिया है। कोरोना में इनके नेताओं ने बेवकूफी की, जिनकी वजह से कई लोग मर गए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बार बार पानी पीकर भाजपा के नेताओं को खूब कोसा। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में जब कोरोना पीक पर था तब इनके एक केन्द्रीय मंत्री कह रहे थे कि भाभीजी के पापड़ खाओ, कोरोना भगाओ। दूसरे केन्द्रीय मंत्री शेखावत जी ने कहा था कि बालाजी के नारियल चढाओ। देश के कई लोग इनके बहकावे में आ गए। इनकी बेवकूफी की वजह से कई लोग मर गए। ये इस तरह की सोच के लोग हैं। कभी ताली बजवाते हैं तो कभी थाली बजवाते हैं। सत्ता विरोध लहर नहीं बना पाने पर इन्हें हाईकमान की फटकार पड़ी है मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार पिछले तीन साल से बेहतरीन काम कर रही है। घोषणा पत्र के 70 फीसदी वादे पूरे कर दिए गए हैं। ऐसे में विपक्ष के पास कुछ मुद्दा ही नहीं है। ये लोग एंटी इनकमबेंसी बनाने में कामयाब नहीं हो पाए। इसलिए हाईकमान ने इन्हें फटकार लगाई है। बेरोजगारी का मुद्दा गम्भीर है। ऐसे में ये लोग इस मुद्दे को गलत दिशा में डायवर्ट करके हल्ला कर रहे हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि उनकी सरकार प्रदेश में 1 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दे चुकी है और 1 लाख नौकरिया प्रक्रियाधीन है। सांसद हनुमान बेनीवाल के सवाल पर केन्द्र सरकार के जवाब का हवाला दिया गहलोत ने विपक्ष द्वारा बार बार सीबीआई की जांच पर अशोक गहलोत ने कहा कि सीबीआई कैसे कार्रवाई करती है, इसकी नजीर देखने के लिए नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल द्वारा पार्लियामेंट में पूछे गए सवाल का जवाब ही देख लीजिए। बेनीवाल ने पूछा था कि पिछले 10 साल में राजस्थान के कितने केस सीबीआई को सौंपे गए और उनकी स्थिति क्या रही। इसका जबाव पढते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि पिछले 10 सालों में कुल 37 केस सीबीआई को भेजे गए। इनमें से केवल 2 मामलों की जांच हुई। 7 मामले बंद कर दिए गए और 27 मामलों पर ट्रायल चल रहा है। 1 मामले में सीबीआई ने आरोपी को दोष मुक्त करार दिया। अशोक गहलोत ने कहा कि विपक्ष को समझना चाहिए कि सीबीआई में मामला देने के बाद भर्तियां अटक जाएगी। नतीजा कब तक आएगा, किसी को नही पता। हाल ही में सीबीआई को सौंपे गए केसों का भी मुख्यमंत्री ने दिया हवाला गहलोत ने राजस्थान विधानसभा में कहा कि हाल ही में अलवर में विमंदित बालिका के साथ हुई घटना की जांच सीबीआई को भेजी गई। इससे पहले भी जोधपुर के लवली कंडारा और पाली के मनोहर राजपुरोहित के लापता होने के मामले को भी सीबीआई को भेजा था। इन प्रकरणों में सीबीआई क्या कर रही है। यह भाजपा सदस्यों को समझना चाहिए। जब एसओजी सही दिशा में जांच कर रही है तो सीबीआई से जांच कराने की क्या जरूरत है। इस दौरान अशोक गहलोत ने प्रदेश के अन्य राज्यों में हुए पेपर लीक मामलों का जिक्र करते हुए कहा कि इनमें से किसी भी प्रकरण की जांच सीबीआई से नहीं करवाई गई है। भाजपा के लोग भर्तियां अटकाना चाहते हैं। फिर ये लोग राज्य सरकार पर आरोप लगाएंगे कि सरकार ने रोजगार नहीं दिया।


from Local News, लोकल न्यूज, Hindi Samachar, हिंदी समाचार, state news in hindi, राज्य समाचार , Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/QbSLT3a
https://ift.tt/x5uWUCB

No comments