Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

पानी में क्यों रखे हैं इतने सारे सोलर प्लेट? सच्चाई जानकर कहेंगे ये तो बिहार में गर्दा काम हो गया

दरभंगा: तस्वीरों में आप देख रहे हैं कि बिहार के दरभंगा जिले की एक तालाब में ढेर सारे सोलर प्लेट तैर रहे हैं। अगर आप फ्लोटिंग सोलर पावर प्लां...

दरभंगा: तस्वीरों में आप देख रहे हैं कि बिहार के दरभंगा जिले की एक तालाब में ढेर सारे सोलर प्लेट तैर रहे हैं। अगर आप फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट जैसे शब्द से अवगत नहीं हैं तो पहली नजर में आपको यह तस्वीर अजीब लग सकती है, लेकिन वास्तव में यह बिहार के लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाने वाली फोटो है। ज्यादातर मौकों पर बिहार में धरना-प्रदर्शन, गंदगी, रैली, अपराध, राजनीतिक बयानबाजी आदि की तस्वीरें मीडिया में आती हैं। लेकिन पानी में तैरते ढेर सारे सोलर प्लेट की यह तस्वीर बिहार के हर रहवासी को गौरवांवित अनुभव कराएगी।

बिहार (Bihar) के दरभंगा (Darbhanga) में पहला फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट (Floating Solar Power Plant) बनकर तैयार हो गया है। इसी साल मार्च तक सुपौल का फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट भी बनकर तैयार हो जाएगा।


पानी में क्यों रखे हैं इतने सारे सोलर प्लेट? सच्चाई जानकर कहेंगे ये तो बिहार में गर्दा काम हो गया

दरभंगा:

तस्वीरों में आप देख रहे हैं कि बिहार के दरभंगा जिले की एक तालाब में ढेर सारे सोलर प्लेट तैर रहे हैं। अगर आप फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट जैसे शब्द से अवगत नहीं हैं तो पहली नजर में आपको यह तस्वीर अजीब लग सकती है, लेकिन वास्तव में यह बिहार के लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाने वाली फोटो है। ज्यादातर मौकों पर बिहार में धरना-प्रदर्शन, गंदगी, रैली, अपराध, राजनीतिक बयानबाजी आदि की तस्वीरें मीडिया में आती हैं। लेकिन पानी में तैरते ढेर सारे सोलर प्लेट की यह तस्वीर बिहार के हर रहवासी को गौरवांवित अनुभव कराएगी।



कमाल है! नीचे मछली ऊपर बिजली
कमाल है! नीचे मछली ऊपर बिजली

बिहार के दरभंगा जिले में राज्य का पहला तैरता हुआ सोलर बिजली प्लांट बनकर तैयार हो गया है। यह तैरता पावर प्लांट दरभंगा जिले के कादिराबाद मोहल्ले के एक तालाब में बनाया गया है। खास बात यह है कि इन तैरते सोलर प्लेट के नीचे मछलियां पल रही हैं। यानी ये प्रोजेक्ट 'नीचे मछली ऊपर बिजली' के कॉन्सेप्ट को पूरा कर रही है।



फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट से 1.6 मेगावाट बिजली बनेगी
फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट से 1.6 मेगावाट बिजली बनेगी

बिहार के पहले फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट से 1.6 मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जाएगा। दरभंगा का फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट सफल होने पर बिहार के अन्य जिलों में भी यह प्रयोग दोहराया जाएगा। इससे राज्य में बिजल की कमी को काफी हद तक दूर किया जा सकेगा।



सुपौल का फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट मार्च तक होगा तैयार
सुपौल का फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट मार्च तक होगा तैयार

बिहार का दूसरा फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट सुपौल जिले में बन रहा है। उम्मीद की जा रही है कि अगले महीने यानी मार्च तक सुपौल प्लांट भी बनकर तैयार हो जाएगा। फिलहाल इसे अंतिम रूप देने की कोशिश की जा रही है।



विद्युत उप केंद्र तैयार होते ही होगी बिजली की सप्लाई
विद्युत उप केंद्र तैयार होते ही होगी बिजली की सप्लाई

फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट में तैयार बिजली के उपयोग के लिए विद्युत उप केंद्र भी बनाया गया है। विद्युत उप केंद्र बनकर तैयार होते ही इसे चार्ज कर बिजली उत्पादन शुरू कर दिया जाएगा।



फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट से कोई प्रदूषण नहीं
फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट से कोई प्रदूषण नहीं

फ्लोटिंग सोलर पावर प्लांट की खास बात यह है कि इसमें किसी प्रकार का कोई प्रदूषण भी नहीं होगा और न ही तालाब की बनावट के अलावा मछली पालन करने में कोई छेड़छाड़ किया जाएगा। बिहार सरकार के पब्लिक प्राइवेट मोड पर यह फ्लोटिंग पावर प्लांट तालाब में लगाया गया है। सभी तस्वीर साभार: ट्विटर अकाउंट @SanjayJhaBihar





from Local News, लोकल न्यूज, Hindi Samachar, हिंदी समाचार, state news in hindi, राज्य समाचार , Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/PNhr3nz
https://ift.tt/3RvqOoi

No comments