Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

यूक्रेन में फंसे भारतीयों को लेकर वायुसेना का ग्लोबमास्टर हिंडन पहुंचा, केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री ने किया स्वागत

नई दिल्ली: रूस-यूक्रेन () के बीच छिड़ी जंग में वहां कई हजार मेडिकल की पढ़ाई करने गए भारतीय छात्र फंस गए, जिन्हें लाने के लिए बुधवार अलसुब...

नई दिल्ली: रूस-यूक्रेन () के बीच छिड़ी जंग में वहां कई हजार मेडिकल की पढ़ाई करने गए भारतीय छात्र फंस गए, जिन्हें लाने के लिए बुधवार अलसुबह 4 बजे वायुसेना के विमान ग्लोबमास्टर ने हिंडन से रोमानिया के लिए उड़ान भरी थी। बुधवार देर रात करीब डेढ़ बजे भारतीय छात्रों को लेकर ग्लोबमास्टर () हिंडन एयरबेस पहुंच गया। भारतीय नागरिकों का केंद्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने स्वागत किया। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बुधवार देर शाम ट्वीट कर इंडियन एयरफोर्स समेत 9 फ्लाइट हंगरी, रोमानिया, स्लोवाकिया और पोलैंड से दिल्ली पहुंचने की जानकारी दी। इसके अलावा उन्होंने 6 अन्य फ्लाइट के जल्द उड़ान भरने की जानकारी दी थी। उन्होंने ट्वीट में बताया कि कुल तीन हजार भारतीयों को लाना है। भारत सरकार की ओर से यूक्रेन में फंसे भारतीयों को निकालने के लिए 'ऑपरेशन गंगा' () चलाया जा रहा है। इंडियन एयरफोर्स के अधिकारी ने बताया कि अब तक यूक्रेन से लोगों को वापस लाने के लिए 4 उड़ानें शुरू की गई हैं। बुधवार को मोदी के निर्देश पर वीके सिंह, ज्योतिरादित्य सिंधिया और विदेश मंत्री एस जयशंकर समेत कई केंद्रीय मंत्रियों को भारतीय नागरिकों को लाने के लिए रोमानिया और पोलैंड समेत यूक्रेन बॉर्डर से सटे देशों में भेजा गया था। लगभग 17,000 भारतीय नागरिक यूक्रेन सीमा छोड़ चुके हैं : विदेश मंत्रालय यूक्रेन में भारतीय दूतावास द्वारा एडवाइजरी जारी किए जाने के बाद से लगभग 17,000 भारतीय नागरिक युद्धग्रस्त यूक्रेन को उसकी विभिन्न सीमाओं के रास्ते छोड़ चुके हैं। विदेश मंत्रालय ने बुधवार को यह जानकारी दी। मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा, 'अब हमारा अनुमान है कि जनवरी के अंतिम सप्ताह में हमारी सलाह जारी होने के बाद से लगभग 17,000 भारतीय नागरिकों ने यूक्रेन की सीमाओं को छोड़ दिया है।' उन्होंने कहा कि कीव में दूतावास को भारतीय नागरिकों द्वारा सीमा पार करने की सुविधा के लिए लवीव में एक अस्थायी कार्यालय स्थापित करने के लिए कहा गया है।


from Local News, लोकल न्यूज, Hindi Samachar, हिंदी समाचार, state news in hindi, राज्य समाचार , Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/9WsblfZ
https://ift.tt/65bD04q

No comments