Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

Upen Yadav News :6 दिन बाद मुख्य सचेतक ने तुड़वाया उपेन का अनशन, जानिए किन मुद्दों पर बनी बात

जयपुर, रामस्वरूप लामरोड़ के अध्यक्ष उपेन यादव सहित पांच अभ्यर्थियों का आमरण अनशन सरकार ने मंगलवार आधी रात को तुड़वा दिया। कांग्रेस के वरिष्...

जयपुर, रामस्वरूप लामरोड़ के अध्यक्ष उपेन यादव सहित पांच अभ्यर्थियों का आमरण अनशन सरकार ने मंगलवार आधी रात को तुड़वा दिया। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और विधानसभा के मुख्य सचेतक महेश जोशी रात 12:00 बजे सवाई मानसिंह अस्पताल के आईसीयू वार्ड में भर्ती उपेन यादव के पास पहुंचे। जोशी ने कहा कि आपकी 21 सूत्रीय मांगों में से 6 मुख्य मांगे सरकार की ओर से मान ली गई है। अन्य 15 मांगो विचार विमर्श के लिए मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव कुलदीप रांका के साथ वार्ता कराने का आश्वासन दिया। इससे पहले धरने पर बैठे विभिन्न भर्तियों से जुड़े अभ्यर्थियों के 5 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल की सरकार से वार्ता कराई गई। प्रतिनिधिमंडल और अन्य सभी अभ्यर्थियों की सहमति से उपेन यादव ने आमरण अनशन तोड़ा। उपेन की जान थी खतरे में, देर से पिघली सरकारबता दें, जयपुर के शहीद स्मारक पर उपेन यादव ने 14 अक्टूबर को आमरण अनशन शुरू किया था। 3 दिन बाद 16 अक्टूबर की देर रात को तबियत बिगड़ने पर उपेन को पुलिस ने जबरन सवाई मानसिंह अस्पताल के आईसीयू वार्ड में भर्ती करवाया। अस्पताल में भर्ती होने के बावजूद उपेन अपनी 21 सूत्री मांगों को लेकर खड़े रहे और इलाज लेने से साफ इनकार कर दिया। आईसीयू वार्ड के मेडिकल रजिस्टर पर प्रतिदिन लिखते रहे कि वे जान दे देंगे, लेकिन इलाज नहीं करवाएंगे। मुख्य सचेतक जोशी पहुंचे अस्पता, तुड़वाया अनशन 3 दिन तक आईसीयू में भर्ती रहने के दौरान उपेंन की हालत बहुत ज्यादा बिगड़ गई। उनके 4 अन्य साथी भी अमशन पर बैठे और तबियत बिगड़ने पर उन्हें भी भर्ती कराना पड़ा। पुलिस और प्रशासन के अधिकारी बार-बार उपेन यादव पर आमरण अनशन तोड़ने के लिए दबाव बनाते रहे ,लेकिन उपेन अपनी जिद पर अड़े रहे। आखिर 19 अक्टूबर मंगलवार की आधी रात को मुख्य सचेतक महेश जोशी ने अस्पताल पहुंच कर अनशन तुड़वाया। बेरोजगारों की ये 6 मांगे मानी सरकार नेबेरोजगार एकीकृत महासंघ के 21 सूत्री मांगों में से 6 मांगे राज्य सरकार ने मान ली। विभिन्न भर्ती परीक्षा में होने वाली नकल और धांधली को रोकने के लिए सख्त कानून बनाने के लिए मुख्यमंत्री बयान जारी कर चुके हैं। आरपीएससी और राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड को निर्देशित किया गया है कि आगामी भर्तियों के लिए हर साल भर्ती कैलेंडर जारी करें। कंप्यूटर शिक्षक भर्ती का सिलेबस भी सरकार ने जारी कर दिया है। परिचालक भर्ती 2011 के 257 अभ्यर्थियों को नियुक्ति दिए जाने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। 197 मोटर वाहन उपनिरीक्षक भर्ती की संशोधित अभ्यर्थना बोर्ड को भेज दी गई है। साथ ही लैब टेक्नीशियन ईसीजी भर्ती के नियुक्ति आदेश भी जारी कर दिए गए। REET-2021 और SI भर्ती में हुई धांधलियों की जांच CBI से कराने सहित अन्य मांगें लंबितरीट 2021 और सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा में हुई धांधली की जांच सीबीआई से कराने की मांग सहित अन्य मांगे अभी लंबित है। अब मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव कुलदीप रांका के साथ बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव के नेतृत्व में 5 सदस्य प्रतिनिधि मंडल की वार्ता होगी, जहां इन मांगों पर वार्ता की जाएगी। फिलहाल बेरोजगारों का धरना शहीद स्मारक पर जारी है।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3n7Ef1T
https://ift.tt/3pfXHMA

No comments