Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

West Bengal election result-2021

West Bengal election result-2021

आतंकियों का टारगेट थे, वर्कर को लगी गोलियां...लेकिन कश्मीर नहीं छोड़ना चाहते संदीप मावा

श्रीनगर 'मैं कश्मीर नहीं छोड़ूंगा चाहे गोलियों से भून ही क्यों न दिया जाए', यह कहना है डॉ. संदीप मावा का, जिनके सेल्समैन इब्राहिम...

श्रीनगर 'मैं कश्मीर नहीं छोड़ूंगा चाहे गोलियों से भून ही क्यों न दिया जाए', यह कहना है डॉ. संदीप मावा का, जिनके सेल्समैन इब्राहिम की जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर शहर में आतंकवादियों ने हत्या कर दी। कश्मीरी पंडित संदीप मावा ने 29 साल बाद 2019 में अपनी दुकान फिर से खोली थी। श्रीनगर के पुराने शहर बोहरी कदल इलाके में सोमवार शाम आतंकवादियों ने ताबड़तोड़ गोलियां चलाईं। इस हमले में मोहम्मद इब्राहिम खान गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें एसएमएचएस अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। खान उत्तरी कश्मीर के बांदीपोरा जिले के अस्तेंगो गांव के रहने वाले थे। कश्मीरी पंडितों की घाटी में वापसी के लिए काम करते हैं संदीप इब्राहिम पुराने शहर श्रीनगर में एक कश्मीरी पंडित रोशन लाल मावा की दुकान पर सेल्समैन के रूप में काम करते थे। रोशन लाल के बेटे डॉ संदीप मावा सुलह मोर्चा के अध्यक्ष हैं और कश्मीरी पंडितों की घाटी में वापसी के लिए काम करते हैं। 2019 में खोली थी दुकान मावा ने 29 साल तक अपनी दुकान बंद रखी और 2019 में अपने पिता की दुकान फिर से खोली थी। वरिष्ठ अलगाववादी नेता, मीरवाइज उमर फारूक ने 2019 में फिर से खुलने पर मावा की दुकान पहुंचे थे। मीरवाइज उमर ने लंबे अंतराल के बाद मावा के कश्मीर लौटने के फैसले का स्वागत किया था और उनके नए उद्यम में उन्हें शुभकामनाएं दी थीं। संदीप के धोखे में इब्राहिम को मारी गोली संदीप ने बताया, 'इब्राहिम रात करीब 8 बजे स्टोर से मेरी एक्सयूवी लेने गया था। आतंकी वहां अंधेरे में दुबके हुए थे। उन्होंने सोचा कि एक्सयूवी में मैं हूं और उन्होंने खान को गोलियों से भून दिया। आतंकियों के निशाने पर मैं और मेरे पिता थे लेकिन गलती से इब्राहिम शिकार हो गया।' अक्टूबर से अब तक 12 आम नागरिकों की हत्याएं श्रीनगर में दो दिनों में यह दूसरी टारगेट किलिंग है। वहीं अक्टूबर से अब तक 12 आम नागरिकों की हत्याएं की जा चुकी हैं। श्रीनगर के बटमालू इलाके में रविवार को आतंकियों ने एक पुलिस कांस्टेबल की गोली मारकर हत्या कर दी थी। मोहम्मद इब्राहिम खान की हत्या ने अल्पसंख्यक कश्मीरी पंडित समुदाय को झकझोर दिया है। वे अब कश्मीर में नहीं रहना चाहते हैं। लेकिन संदीप कहते हैं कि वह कश्मीर नहीं छोड़ेंगे।


from Hindi Samachar: हिंदी समाचार, Samachar in Hindi, आज के ताजा हिंदी समाचार, Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर, राज्य समाचार, शहर के समाचार - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/3bXdV5n
https://ift.tt/31HbqSN

No comments