Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Classic Header

{fbt_classic_header}

Top Ad

Breaking News:

latest

भारत श्री सम्मान

भारत श्री सम्मान
आप के योगदान को देता है , समुचित सम्मान एवं कार्य क्षेत्रों को देता है नया आयाम। "भारत श्री सम्मान" । आज ही आवेदन करें । कॉल एवं व्हाट्सएप : 9354343835.

पंजाब में बहुमत हासिल करेगी AAP! सी वोटर-एबीपी के सर्वे में मिलीं इतनी सीटें

चंडीगढ़: पंजाब में इस बार किसकी सरकार (Punjab Assembly Election 2022) बनेगी, इसका पता तो 10 मार्च को चलेगा। इस बीच सीवोटर-एबीपी न्यूज (C ...

चंडीगढ़: पंजाब में इस बार किसकी सरकार (Punjab Assembly Election 2022) बनेगी, इसका पता तो 10 मार्च को चलेगा। इस बीच सीवोटर-एबीपी न्यूज (C Voter ABP Survey Punjab) के सर्वे में अनुमान लगाया गया है कि राज्य में आम आदमी पार्टी (AAP) की सरकार बन सकती है। 2017 के विधानसभा चुनावों (Punjab Election) में आम आदमी पार्टी से जितनी उम्मीदें जताई जा रही थी, पार्टी उस पर खरी नहीं उतर पाई थी। उस वक्त राज्य में कांग्रेस सरकार बनाने में सफल रही थी। ओपिनियन पोल के मुताबिक इस बार आम आदमी पार्टी की स्थिति काफी मजबूत दिखाई दे रही है। प्रदेश में उसकी सरकार बनाती नजर आ रही है। सोमवार शाम को जारी सी वोटर-एबीपी न्यूज के एक ओपिनियन पोल के अनुसार, आम आदमी पार्टी पंजाब में बहुमत के साथ जीतने के लिए तैयार है, जबकि कांग्रेस उससे बहुत पीछे है। अकाली दल गठबंधन और बीजेपी-अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाला गठबंधन तीसरे और चौथे स्थान पर रह सकता है। सर्वे में मतदान से संबंधित अंतिम परिणामों के अनुसार, आम आदमी पार्टी को पंजाब में 55 से 63 के बीच सीटें मिल सकती हैं। राज्य में विधानसभा की 117 सीटें हैं और बहुमत का जादुई आंकड़ा 59 है। कांग्रेस ने हाल ही में राज्य के पहले दलित मुख्यमंत्री को अपना सीएम उम्मीदवार घोषित किया है। हालांकि सी वोटर-एबीपी के सर्वे में कांग्रेस को 24 से 30 सीटों के अनुमान के साथ बहुमत से बहुत पीछे बताया जा रहा है। ऐसा लग रहा है कि बसपा के साथ गठबंधन ने अकाली दल की मदद नहीं की है, जिसने 2007 और 2017 के बीच बीजेपी के साथ गठबंधन में पंजाब पर शासन किया था। बसपा-अकाली गठबंधन को चुनावों में 20 से 26 सीटों के बीच जीतने का अनुमान है। उधर बीजेपी के नेतृत्व वाला गठबंधन चुनावी जीत की तस्वीर में कहीं नजर नहीं आ रहा है। ओपिनियन पोल के मुताबिक उसके 3 से 11 सीटों के बीच जीतने का अनुमान है। अगर 10 मार्च को विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने पर इस ओपिनियन पोल के निष्कर्ष सही होते हैं, तो इसकी एक वजह कांग्रेस के भीतर तीव्र अंदरूनी कलह को ठहराया जा सकता है। यानी अगर कांग्रेस हारती है तो इसके पीछे पार्टी में चल रहा अंदरूनी घमासान सबसे बड़ी वजह कहलाएगा। वहीं सर्वे का अनुमान सटीक बैठने पर एक और बड़ी बात यह होने वाली है कि अरविंद केजरीवाल राष्ट्रीय राजनीति में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाने की राह पर होंगे।


from Local News, लोकल न्यूज, Hindi Samachar, हिंदी समाचार, state news in hindi, राज्य समाचार , Aaj Ki Taza Khabar, आज की ताजा खाबर - नवभारत टाइम्स https://ift.tt/JL2PR0B
https://ift.tt/0XQtaAF

No comments